अहमदाबाद, 18 फरवरी | फर्जी मुठभेड़ों को लेकर विवादित गुजरात पुलिस के अधिकारी डी. जी. वंजारा बुधवार को अहमदाबाद जेल से बाहर आ गए।  पुलिस में पूर्व उप महानिरीक्षक वंजारा जैसे ही यहां के साबरमती जेल से बाहर आए उनके समर्थकों ने उनका हीरो की तरह स्वागत किया। एक खुली जीप में वे खड़े होकर गुजरे और वहां जमा लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन करते रहे।

मजेदार बात यह रही कि किसी जमाने में युवक कांग्रेस के नेता और आतंकवाद विरोधी कार्यकर्ता मनिंदरजीत सिंह बिट्टा वाहन में उनके साथ मौजूद थे। दो फर्जी मुठभेड़ों में से एक इशरत जहां मामले में जमानत मंजूर हो जाने के बाद वंजारा को जेल से मुक्ति मिल सकी है। जमानत की शर्तो में से एक अपने गृह राज्य गुजरात में प्रवेश नहीं करना तय किया गया है।

वर्ष 2014 में वंजारा को सोहराबुद्दीन शेख हत्या मामले में जमानत दी गई थी। उन्हें मार्च 2007 में गिरफ्तार किया गया था।