यूपी के दादरी में बीफ खाने को लेकर एक अफवाह फैलने के बाद मोहम्मद अख़लाक़ नाम के शख्स की पीट पीट कर लोगो ने मार दिया था। अब यह मामला नया तूल पकड़ने लगा है जिसपर जमकर राजनीति भी शुरू हो चुकी है। लेकिन इन सब के बीच एक और खुलासा सामने आया है। एक अंग्रेजी खबर के मुताबिक जब लोगों ने हमला किया तब अपनी जान बचाने के लिए अखलाक ने अपने हिन्दू दोस्त मनोज को फोन कर के मदद मांगी थी।Also Read - Chhattisgarh: पत्नी ने धर्म परिवर्तन के लिए प्रताड़ना और गोमांस खिलाने का आरोप लगाया, पति समेत तीन अरेस्‍ट

अखलाक का यह हिन्दू दोस्त मनोज सिसोदिया एक किराने की दूकान चलाता है। और इसे अखलाक ने आंखरी फोन रात को साढ़े दस बजे किया था। इसका खुलासा मोहम्मद अखलाक के फोन डिटेल्स से हुआ। सब इंस्पेक्टर सतबीर सिंह चौहान ने भी बताया कि पुलिस को कॉल करने वाले सिसादिया ही थे। उनका घर अखलाक के घर से 500 मीटर की दूरी पर स्थित था। सिसोदिया ने बताया कि उन्हें अपने दोस्त की मौत से सदमा लगा है। अपने दोस्त की मौत पर मनोज सिसोदिया अब सदमें में है। Also Read - Cadbury Viral Post: क्या कैडबरी की चॉकलेट में है गोमांस? कंपनी ने बताई हकीकत

अखलाक ने फोन कर अपने दोस्त से कहा की भाई हम मुसीबत में है और हमरी जान खतरें में हैं हमे बचा लो। इसके बाद अखलाक का फोन कट गया। अपने दोस्त की बात सुन मनोज अपनी मोटर सायकल से गावं के लिए निकल गया। लेकिन 15 मिनट की दुरी को तय कर के जब गावं में पहुंचा तब तक अखलाक को लोगो ने मार दिया था। फिलहाल इस मामले के बाद अब गावं के लोग किसी भी बाहरी शख्स को गावं के भीतर नही आने दे रहें है। Also Read - कोरोना वायरस: यूपी पुलिस का बड़ा खुलासा, दादरी की तीन मस्जिदों में कई दिन रहा हरदोई में संक्रमित पाया व्यक्ति