धर्मशाला: दलाई लामा ने लंदन पुलिस के साथ एक ऑनलाइन संवाद में कहा कि देशों में अगर ज्यादा महिला नेता होतीं तो दुनिया ज्यादा शांतिपूर्ण होती. बौद्ध धर्मगुरु ने बुधवार शाम को पुलिसकर्मियों को बताया कि महिलाएं दूसरों की भावनाओं को लेकर ज्यादा संवेदनशील होती हैं. उन्होंने कहा कि इसलिये उन्हें प्रेम और करुणा को बढ़ावा देने के लिये काम करना चाहिए.Also Read - बर्फ से लकदक हिमाचल के ये पहाड़ आपको बुलाते हैं, सुनो आवाज लगाते हैं, कब आओगे...

दलाई लामा ने कहा कि “ऐतिहासिक रूप से, हम देखते हैं कि ज्यादातर योद्धा पुरुष थे, यहां तक कि कसाई भी पुरुष होते हैं. महिलाएं नरम रुख का प्रतिनिधित्व करती हैं.” दलाई लामा ने कहा, “कई बार, मुझे लगता है कि अगर देशों में ज्यादा महिला नेता होतीं तो हमारी दुनिया ज्यादा शांतिपूर्ण होती.” Also Read - PM Modi In Himachal: पीएम मोदी आज हिमाचल में 11,000 करोड़ रुपये की जलविद्युत परियोजनाओं का करेंगे शुभारंभ

दलाई लामा ने कहा कि जब सना मारिन फिनलैंड की प्रधानमंत्री बनीं और उन्होंने अपने मंत्रिमंडल में अहम पदों पर महिलाओं को रखा तो उन्होंने मारिन को बधाई देते हुए पत्र लिखा था. भारत के बारे में नोबल पुरस्कार विजेता ने कहा कि देश में कई आध्यात्मिक परंपराएं हैं और आमतौर पर ये लोग एकसाथ शांतिपूर्वक रहते हैं. उन्होंने कहा, “यहां हिंदू, जैन, बौद्ध, सिख, ईसाई, यहूदी, मुसलमान और पारसी सभी साथ मिलकर रहते हैं. भारत में इतने धर्म और परंपराएं हैं लेकिन सभी प्यार का साझा संदेश देते हैं.” Also Read - Himachal Pradesh vs Tamil Nadu, Final: दिनेश कार्तिक की शतकीय पारी की मदद से हिमांचल प्रदेश के सामने 315 रनों का लक्ष्य