तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा शहर के अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान यहां प्रसिद्ध संस्थानों के छात्रों को संबोधित करेंगे. मंगलवार को एक आधिकारिक बयान में इस बात की जानकारी दी गई. 14वें दलाई लामा मुंबई विश्वविद्यालय में बौद्ध शिक्षा केंद्र के दर्शनशास्त्र विभाग द्वारा आयोजित ‘कॉन्सेप्ट ऑफ मैत्री (मैटा) इन बुद्धिज्म’ पर एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन संबोधन भी देंगे.

बुधवार को समारोह की अध्यक्षता मुंबई विश्वविद्यालय कुलपति सुहास पेडनेकर और वाराणसी के केंद्रीय उच्च तिब्बती अध्ययन संस्थान के कुलपति गेशे गवांग सामतेन करेंगे.

83 वर्षीय दलाई लामा गुरुवार को सायन में गुरु नानक कॉलेज में आयोजित 11वें रजत व्याख्यान में ‘द कंपैशन एंड नीड फॉर यूनिवर्सल रिस्पॉन्सबिलिटी’ पर बोलेंगे.

अगले दिन वह भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-बॉम्बे (आईआईटी-बी) में 22वें टेकफेस्ट 2018 को संबोधित करेंगे.

अतीत में दिवंगत राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई और नोबल पुरस्कार विजेता जॉन नैश जूनियर ने यहां व्याख्यान दिए हैं.

इसके अलावा फ्रेंडस ऑफ तिब्बत दलाई लामा की यात्रा के सम्मान में शहर में फोटो-सह-पेंटिंग प्रदर्शनी, फिल्म स्क्रीनिंग और तिब्बती मेडिकल कैंप का भी आयोजन करेंगे.

इस प्रदर्शनी का मुख्य भाग सुरेश नटराजन द्वारा दलाई लामा की खींची गई तस्वीरें और रविकिरण परमेश्वर द्वारा बनाए गए चित्र होंगे.

(इनपुट आईएनएस)