राजकोट: गुजरात के राजकोट जिले में चोरी के शक में 35 वर्षीय दलित व्यक्ति को पीट-पीट कर मार डालने के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यह जानकारी पुलिस के एक अधिकारी ने दी. घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें दिख रहा है कि दो व्यक्ति मुकेश वानिया नाम के व्यक्ति को एक छड़ी से पीट रहे हैं और एक अन्य व्यक्ति ने उसे उसकी कमर में बंधी रस्सी से बांधकर पकड़ा हुआ है . वीडियो के आधार पर पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है.

राजकोट (ग्रामीण) प्रभारी पुलिस अधीक्षक श्रृति एस मेहता ने बताया कि शपर शहर में रदाडिया इंडस्ट्रीज परिसर के पास कल कुछ लोगों ने कूड़ा बीनने वाले एक व्यक्ति को पीटा. फैक्ट्री मालिक और उसकी पत्नी ने उसपर चोरी का आरोप लगाया. मेहता ने कहा कि मृतक की पत्नी ने राजकोट के शपर – वेरावाल थाने में रविवार शाम तहरीर देकर आरोप लगाया कि पांच लोगों ने उसके पति को इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई.

श्रृति ने बताया , ‘ हमने वीडियो के आधार पर पांच लोगों को गिरफ्तार किया है जो कथित रूप से मृतक को पीटते हुए दिख रहे हैं. मामले की जांच चल रही है.’ मृतक की पत्नी जयबेन वानिया की शिकायत के मुताबिक पांच लोगों ने उनके पति को इसलिए पीटा क्योंकि उन्हें शक था कि दंपति ने चोरी की है. रदाडिया इंडस्ट्रीज के पास दंपति कूड़ा बीन रहा था , तभी उन्हें आरोपियों ने पकड़ लिया और फिर पीटना शुरू कर दिया.

शापर-वेरावाल थाने के एक अधिकारी ने बताया कि मुकेश की राजकोट में अस्पताल ले जाते वक्त मौत हो गई. उन्होंने बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और 308 (गैर इरादतन हत्या की कोशिश) के तहत केस दर्ज किया गया. आरोपियों की पहचान चिराग पटेल , दिव्येश पटेल , जयसुख रदाडिया और तेजस जाला के तौर पर हूई है. पुलिस के मुताबिक , जयसुख रदाडिया उस फैक्ट्री का मालिक है जहां कथित घटना हुई है जबकि अन्य आरोपी उसके दोस्त हैं.