जालंधर। पंजाब के जालंधर में कक्षा आठवीं के एक दलित छात्र को उसके सहपाठियों ने धोखे से पेशाब पिला दिया और जब उसने शिक्षक से इसकी शिकायत की तो उसे थप्पड़ खाने पड़े. घटना से दुखी होकर छात्र ने खुदकुशी का प्रयास किया. शिक्षक शिरकी शर्मा के खिलाफ 12 वर्षीय छात्र से कथित मारपीट और जातिवादी टिप्पणी करने के लिए कल मामला दर्ज किया गया. Also Read - CBI ने छत्तीसगढ़ का सेक्स सीडी केस को दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की, CM भूपेश बघेल हैं आरोपी

Also Read - Viral Video: 'पंजाब पुलिस सरदारा दे' गाने पर महिला पुलिसकर्मी का जबरदस्त डांस, वीडियो वायरल

मकान की छत से लगाई छलांग Also Read - जालंधर में युवाओं को रोजगार देने को 1 से 15 जनवरी तक लगाए जाएंगे प्लेसमेंट कैंप

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पिछले शुक्रवार को घटी इस घटना के बाद निराश छात्र ने मकान की छत से छलांग लगा दी. घटना में कई जगह उसकी हड्डी टूट गयी और उसे निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया.

स्कूल में टीचर की पिटाई से बच्चे की आंख फूटी, चली गई रोशनी, कार्रवाई की मांग

छात्र की मां ने शिकायत में कहा है कि लड़के के सहपाठियों ने पानी की बोतल से पानी निकाल कर उसे पेशाब से भर दिया. इससे अनजान लड़ने ने बोतल का ढक्कन खोल कर उसे पी लिया तो उसका मजाक बनाया गया. जब उसने अपने शिक्षक से इसकी शिकायत की तो शर्मा ने थप्पड़ मारा और उसे धमकाया और प्राधानाध्यापक के पास लेकर गए.

छात्र की मां का किया अपमान

लड़के की मां को स्कूल बुलाया गया जहां उनका अपमान किया गया और उनके बेटे के खिलाफ जातिवादी टिप्पणी की गयी. अधिकारी ने बताया कि आईपीसी की धारा 323 (जानबूझकर चोट पहुंचाना) और अनुसूचित जाति और जनजाति (अत्याचार रोकथाम) कानून की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

राज्य अनुसूचित जाति आयोग ने मामले का संज्ञान लिया है. आयोग के सदस्य राज कुमार हंस ने स्कूल का दौरा किया और लड़के के परिवार से मिले और 29 अगस्त तक एक रिपोर्ट मांगी है.