नाहन. हिमाचल प्रदेश के नाहन में 18 मरे हुए चमगादड़ों के पाए जाने के बाद प्रशासन अलर्ट हो गया है. बता दें कि केरल में निपाह वायरस (Nipah Virus) की चपेट में आने से अब तक 11 लोगों की मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि निपाह वायरस चमगादड़ों की वजह से ही फैलता है. ऐसे में दिल्ली से सटे इस इलाके में निपाह वायरस के फैलने की आशंका से लोग डरे हुए हैं. Also Read - निपाह वायरस से पीड़ित मरीज की हालत स्थिर, 311 लोगों को निगरानी में रखा: स्वास्थ्य मंत्री

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, पशुपालन विभाग और वन विभाग की टीम बुर्मा पपड़ी स्कूल पहुंच गई है. अधिकारी मरे हुए चमगादड़ों का सैंपल ले रहे हैं. वे पूरे मामले की जांच कर रहे हैं. हालांकि, अभी अधिकारियों ने वायरस के अफवाह को खारिज कर दिया है. Also Read - केरल की स्वास्थ्य मंत्री ने की पुष्टि- निपाह से संक्रमित है कोच्चि अस्पताल में भर्ती छात्र

हर साल आते हैं चमगादड़
जिला मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी संजय शर्मा ने कहा, हर साल इस इलाके में बड़ी संख्या में चमगादड़ दिखते हैं. वैसे इस बार इनकी संख्या कुछ ज्यादा ही थी. उन्होंने कहा, स्कूल के प्रिंसिपल और छात्रों ने बताया कि हर साल चमगादड़ आते हैं और इस तरह की घटना भी हर साल ही होती है. हालांकि, इस साल उनकी संख्या काफी ज्यादा है. Also Read - निपाह वायरस का डर: सऊदी अरब ने केरल के उत्पादों पर लगाया प्रतिबंध

छात्रों को वायरस के बारे में बताया गया
उन्होंने आगे कहा, हमने स्कूल के टीचर और छात्रों को वायरस के बारे में जानकारी दे दी है. हमने किसी भी तरह के फिजिकल कॉन्टेक्ट से उन्हें स्पष्ट मना कर दिया है. स्कूल की प्रिंसिपल सुपर्णा भारद्वाज ने कहा, निपाह वायरस की वजह से इस पूरे मामले में लोग डर गए थे. छात्रों को निपाह वायरस के बारे में पूरी जानकारी दे दी गई है.