देहरादून: उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के चंडिकाधार में पहाड़ी से मलबा गिरने से आठ लोगों की मौत हो गई. पुलिस के अनुसार हादसा कल देर रात हुआ, जब पहाड़ी से गिरे मलबे के साथ एक भारी बोल्डर एक वाहन और दो मोटरसाइकिलों पर आ गिरा. हादसा इतना जबरदस्त था कि मलबे के साथ ही वाहन करीब 500 मीटर गहरे खड्ड में जा गिरे.Also Read - Uttarakhand Polls 2022: उत्तराखंड में अरविंद केजरीवाल ने किये कई वादे, स्कूल से मुफ्त तीर्थयात्रा तक; जानें क्या-क्या कहा...

इस हादसे में पांच व्यक्तियों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि तीन अन्य ने अस्पताल में दम तोड दिया. रुद्रप्रयाग के क्षेत्राधिकारी गणेश कोली ने बताया कि अब तक चल रहे बचाव और राहत अभियान में चार शवों को मलबे से निकाल लिया गया है जबकि पांचवें शव को निकालने का प्रयास जारी है. Also Read - Badrinath Temple Closed: उत्तराखंड में बद्रीनाथ मंदिर के कपाट बंद होने के साथ चारधाम यात्रा संपन्न

कोली ने बताया कि चट्टान कड़ी होने के कारण बचाव और राहत कार्य में परेशानी आ रही है और उसे तोड़ने के लिए भारी मशीनों का प्रयोग किया जा रहा है. हादसे के समय वाहन सोनप्रयाग से रुद्रप्रयाग की ओर आ रहे थे. हादसे के शिकार तीन लोगों की शिनाख्त हो चुकी है जिनमें से एक रुद्रप्रयाग जबकि दो ऋषिकेश के निवासी थे. Also Read - 21 साल पुराना यूपी और उत्तराखंड का विवाद चंद मिनटों में निपटा, दोनों राज्यों के बीच होगा संपत्ति का बंटवारा

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस हादसे पर दुख व्यक्त किया है.