चेन्नई: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय जाने को लेकर बॉलीवुड स्टार दीपिका पादुकोण पर प्रहार करते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा है कि अभिनेत्री ने उन लोगों के साथ खड़ा होना पसंद किया जो ‘देश का विनाश’ चाहते हैं. बता दें दीपिका उन छात्रों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए मंगलवार को अचानक जेएनयू पहुंच गईं थीं, जिन पर पांच जनवरी को वहां नकाबपोश लोगों ने हमला किया था. उन्होंने कोई भाषण तो नहीं दिया था, लेकिन वह छात्र नेताओं के पीछे चुपचाप खड़ी रहीं. वह इस सप्ताह अपनी फिल्म ‘छपाक’ के सिलसिले में दिल्ली गई थीं.

ईरानी के अनुसार दीपिका ने 2011 में ही अपना राजनीतिक झुकाव स्पष्ट कर दिया था, जब उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की प्रशंसा की और उन्हें प्रधानमंत्री के पद के लिए उपयुक्त उम्मीदवार बताया था.

ईरानी ने गुरुवार को द न्यू इंडियन एक्सप्रेस द्वारा यहां आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ”मुझे शायद उनके राजनीतिक रूझान के बारे में पता है. मैं समझती हूं कि जिस किसी ने खबरें पढ़ी हैं, उन्हें पता पता था कि आप खड़ा होने जा रही हैं. (उन्हें) मालूम था कि आप उन लोगों के साथ खड़ा होने जा रही हैं जो देश का विनाश चाहते थे, पता था कि आप उन लोगों के साथ खड़ा होने जा रही हैं जो सीआरपीएफ के जवान के मारे जाने पर जश्न मनाते हैं.”

मंत्री की इस टिप्पणी का संबंधित वीडियो ने द न्यू इंडियन एक्सप्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल पर डाल दिया है. ईराने कहा, ” उन्होंने कुछ लड़कियों के गुप्तांगों पर लाठी से प्रहार किया. वह उनके पक्ष में खड़ी हुईं. यह उनका अधिकार है. मैं उन्हें उस अधिकार से वंचित नहीं कर सकती. वह उन लोगों के साथ खड़ा होंगी जो ऐसी अन्य लड़कियों को पीटेंगे, जो वैचारिक रूप से उनके साथ नजर नहीं मिलाती हैं. यह उनकी आजादी है. वर्ष 2011 में जब उन्होंने कांग्रेस पार्टी का समर्थन किया था, तभी उन्होंने अपना राजनीतिक रूझान दुनिया को बता दिया था.”

केंद्रीय कपड़ा मंत्री ने कहा कि जिन लोगों ने इन बॉलीवुड स्टार के काम की प्रशंसा की है, वे जेएनयू जाने के उनके फैसले से स्तब्ध हैं. मंत्री ने कहा, ”मैं समझती हूं कि जो समस्या हुई है, वह यह है कि बहुत सारे लोग सकते में हैं. उन्हें पता नहीं था. ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो प्रशंसक थे और उन्होंने संभवत: उनकी बहुत सारी फिल्में भी देखीं, उनके लिए यह झटका है.”