नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच नाजुक दौर से गुजर रहे रिश्‍तों में जमी बर्फ क्‍या देश की रक्षामंत्री की चीन यात्रा से पिघलेगी. डोकलाम विवाद के तनाव के बावजूद दोनों देशों ने संयम भी दिखाते आए हैं. पड़ोसी देशों के रिश्‍तों सुधारने की दिशा में भारतीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की चीन यात्रा को लेकर कई सवाल और उम्‍मीदें हैं. इसी बीच रक्षा मंत्री ने बताया कि वे अगले माह चीन की जाएंगी, लेकिन उनकी यात्रा का एजेंडा क्‍या होगा, यह साफ नहीं है.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि वह अगले महीने चीन की यात्रा पर जाएंगी. डोकलाम गतिरोध के बाद दोनों देशों बीच संबंधों में आए तनाव के मद्देनजर यह एक अहम यात्रा होगी. रक्षा मंत्री ने अपनी चीन यात्रा पर एक सवाल के जवाब में कहा, ‘हां, यात्रा संभवत: अप्रैल के आखिर में कभी होगी.’ हालांकि, उन्होंने बैठक के एजेंडा के बारे में नहीं बताया.

बता दे पिछले साल अगस्त में भारत और चीन ने डोकलाम में दोनों देशों के सैनिकों के बीच 73 दिनों से चले आ रहे गतिरोध को खत्म करने का फैसला किया था. इस गतिरोध के चलते दोनों देशों के बीच संबंधों में तनाव आ गया था. डोकलाम से भारत और चीन द्वारा अपने- अपने सैनिकों को हटाए जाने के बावजूद इस मुद्दे पर दोनों देशों के बीच संबंधों में जमी बर्फ अब तक नहीं पिघली है. (इनपुट- एजेंसी)