नई दिल्‍ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने दौरे के दूसरे दिन शनिवार को आज सुबह अमरनाथ मंदिर में बर्फानी शिवलिंग दर्शन किए और पूजा की. रक्षा मंत्री के साथ रक्षा प्रमुख जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे भी मौजूद रहे. रक्षा मंत्री ने अमरनाथ मंदिर में विश्‍वशांति और सभी के कल्‍याण की कामना की है. Also Read - गिलगिट-बाल्टिस्तान में चुनाव कराने की घोषणा पर भारत ने पाकिस्तान पर साधा निशाना, कहा- कब्जे वाली जगह पर...

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को अमरनाथ की पवित्र गुफा के दर्शन किए और वहां पूजा अर्चना की और मंदिर परिसर में करीब एक घंटा बिताया. अमरनाथ गुफा को हिंदू धर्म के पवित्रतम धर्म स्थलों में से एक माना जाता है और हर साल हजारों श्रद्धालु यहां तीर्थयात्रा पर आते हैं. Also Read - India-China standoff: MEA ने कहा- जमीनी स्थिरता सुनिश्चित करना जरूरी, कमांडर्स की मीटिंग जल्‍द

लेह-लद्दाख में पाकिस्‍तान से लगी एलओसी और चीन से लगी एलएसी पर सुरक्षा समीक्षा के लिए पहुंचे रक्षा मंत्री आज अग्रिम पोस्‍टों का निरीक्षण करेंगे. Also Read - New Education Policy in Bihar: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गिनाए फायदे, कहा- नई शिक्षा नीति नूतन और पुरातन शिक्षा का समागम है

बता दें कि कल रक्षामंत्री राजनाथ सिंह सिंह ने लुकुंग में एक अग्रिम चौकी पर सेना तथा भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों को संबोधित किया था. उन्‍होंने कहा था कि भारत कोई कमजोर देश नहीं है और किसी ने इसके राष्ट्रीय आत्म-सम्मान को चोट पहुंचाने की कोशिश की तो उसे उचित जवाब दिया जाएगा.

राजनाथ सिंह ने कल जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की थी
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को शीर्ष सैन्य अधिकारियों के साथ जम्मू कश्मीर के संपूर्ण सुरक्षा परिदृश्य की समीक्षा करते हुए सुरक्षाबलों को पाकिस्तान के किसी भी ‘दुस्साहस’ का मुंहतोड़ जवाब देने को कहा. एक उच्च स्तरीय बैठक में रक्षा मंत्री ने सशस्त्रबलों से पाकिस्तान से लगती नियंत्रण रेखा पर कड़ी चौकसी बरतने को भी कहा है.