नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच सीमा पर गतिरोध जारी है. दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने खड़ी हैं. इस बीच शुक्रवार के दिन रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सख्ती से कहा कि LAC पर भारतीय सैनिकों की संख्या तब तक कम नहीं होगी, जब तक चीन अपने सैनिकों की संख्या कम करने की प्रक्रिया को शुरू नहीं करता है. इस बीच राजनाथ सिंह ने समस्या के समाधान को लेकर चीन से बातचीत का भरोसा भी दिखाया.Also Read - चीनी सेना PLA ने इंडियन आर्मी को सौंपा अरुणाचल प्रदेश के 19 साल के लड़के को: केंद्रीय मंत्री रिजिजू का ट्वीट

एक टीवी को दिए अपने इंटरव्यू में राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत अपने आधारभूत ढांचे को सीमा पर मजबूत करने में जुटा हुआ है. हालांकि कुछ परियोजनाओं पर चीन की आपत्ति भी है. सीमा पर भारतीय सैनिकों की संख्या में तहतक कमी नहीं की जाएगी, जबतक की चीन अपनी सैनिकों की संख्या को कम करने को लेकर इस प्रक्रिया की शुरुआत नहीं करता है Also Read - Nayak Film के 'अनिल कपूर की तरह' यूपी के तीन दिन का CM बना था यह नेता, जानें किन परिस्थितियों में मिली थी जिम्मेदारी

एक सवाल के जवाब में राजनाथ सिंह ने कहा कि गतिरोध जैसे मुद्दों को लेकर कोई समयसीमा निर्धारित नहीं है. ऐसे मामलों में आप तारीख को तय नहीं कर सकते हैं. हालांकि बातचीत के माध्यम से मामले का हल निकालने का प्रयास जारी है. Also Read - चीनी सेना ने की शर्मनाक हरकत, 17 साल के बच्चे का अरुणाचल प्रदेश से किया अपहरण

अरुणाचल प्रदेश में चीन द्वारा भारतीय जमीन पर बसाए जाने वाले गांव की रिपोर्ट पर राजनाथ सिंह ने कहा कि इस तरह के ढांचे को कई वर्षों में विकसित किया गया है जो सीमा से सटा हुआ है. बता दें कि चीन के साथ साथ पिछले चार दशकों में व्यापार सबसे न्यूनतम स्तर पर है. राजनाथ सिंह ने चीन को लेकर कहा कि चीन ने भारत का भरोसा बिना किसी संदेह के तोड़ा है.