नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में हवा ‘खतरनाक’ स्थिति में पहुंच गई है. दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) बुधवार दोपहर बाद तेजी से बिगड़ गया. ऐसा दिवाली के तीन दिनों बाद हवा की रफ्तार में कमी की वजह से हुआ, जिससे प्रदूषक फंस गए और राजधानी गैस चैंबर में बदल गई. सफर इंडिया के मुताबिक, दिल्ली का एक्यूआई 423 की गणना के साथ गंभीर स्थिति में है, जो इस सीजन का सबसे अधिक है. पीएम 2.5 भी गंभीर श्रेणी में है, जबकि पीएम 10, 421 पर रहा, जो बहुत ही खराब श्रेणी में है.

 

अमेरिकी दूतावास के आंकड़ों के अनुसार, अपराह्न् एक बजे एक्यूआई बदतर होकर 337 पर पहुंच गया, जो सुबह 10 बजे 206 पर था, जिसे बहुत ही अस्वास्थ्यकर श्रेणी में माना जाता है. एक्यूआई का मान 300 से ज्यादा रहने पर यह स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरे की चेतावनी है. एक्यूआई मंगलवार दोपहर बाद करीब एक बजे से बेहद नुकसानदायक श्रेणी में बना हुआ है. लेकिन इसमें बुधवार सुबह पांच बजे के करीब कमी आई, जब एक्यूआई 304 पर रहा.

अब भी खतरनाक बनी हुई दिल्ली-NCR की हवा, जानिए कब तक मिलेगी राहत

तेज हवा बहने से मिलेगी राहत
एक्यूआई मंगलवार शाम चार बजे 355 के सबसे अधिक स्तर पर दर्ज किया गया, जबकि बुधवार सुबह पीएम 2.5 स्तर पर एक्यूआई सबसे कम 204 रिकॉर्ड किया गया. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग(IMD) के वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि कल यानी गुरुवार से हवा की गति 10-12 किमी/घंटा तक जा सकती है, इसलिए हवा की गुणवत्ता में सुधार होने की संभावना है. 2 और 3 नवंबर को हवा की गति बढ़ेगी और हवा की गुणवत्ता में और सुधार होगा. (इनपुट एजेंसी)