Delhi Assembly Election 2020: आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के दिल्ली संयोजक गोपाल राय (Gopal Rai) ने मुख्यमंत्री का उम्मीदवार न घोषित करने को लेकर भाजपा पर हमला बोला है. गोपाल राय ने कहा कि भगवा पार्टी के पास न तो कोई चेहरा है और न ही अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) का सामना करने की हिम्मत है. गोपाल राय ने कहा कि भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के नाम पर चुनाव लड़ रही है, जो दिल्ली के मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे.Also Read - MP में कांग्रेस को बड़ा झटका, विधायक सचिन बिरला ने लोकसभा उपचुनाव के बीच में बीजेपी ज्‍वाइन की

गोपाल राय ने कहा, “उनके पास न तो मुद्दे हैं और न ही दिल्ली में कोई नेता है. उनके पास चुनाव के लिए कोई नेतृत्व नहीं है. उनके पास कोई नेता नहीं है जो चुनाव का नेतृत्व कर सकता है और मुख्यमंत्री उम्मीदवार का खुलासा नहीं करने के कारणों में से एक यह है कि उन्हें यह भी भरोसा नहीं है कि वे सरकार बनाएंगे.” अरविंद केजरीवाल सरकार की कैबिनेट में मंत्री राय ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act) के मुद्दे पर आप का रुख पहले दिन से स्पष्ट है. Also Read - यूपी: किसानों ने पूछा- हमें खाद क्यों नहीं मिल रही, मंत्री बोले- वोट देना हो तो दो, वर्ना...

दिल्ली चुनाव: मतदाताओं से गांजा के बदले वोट चाह रहे नेता, चौंकाने वाली है ये खबर Also Read - महाराष्ट्र के मंत्री ने कही चौंकाने वाली बात, Shahrukh Khan अगर BJP में शामिल हो जाएं तो ड्रग्स...

गोपाल राय ने कहा, “पार्टी का रुख पहले दिन से स्पष्ट है. अगर कोई भ्रम है, तो यह पार्टी की ओर से नहीं है. यह सिर्फ एक गैर-जरूरी मुद्दा है. लोगों और राष्ट्र के सामने मुद्दा रोजगार और व्यापार का है. लोग विकास के लिए संघर्ष कर रहे हैं. समाधान देने के बजाय, केंद्र सरकार ने इस पर से ध्यान हटाया है. वे लोगों का ध्यान बांटे रखना चाहते हैं और इसलिए वे मुख्य मुद्दों के अलावा अन्य चीजों पर चर्चा करते रहते हैं.” बाबरपुर से विधायक राय ने कहा कि आप ने संसद के दोनों सदनों में सीएए पर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है. उन्होंने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए कहा कि भाजपा को कोई मुद्दा नहीं मिल रहा है और इसलिए “जानबूझकर ध्यान हटाने की कोशिश कर रही है. लेकिन दिल्ली के लोग अब विकास के लिए वोट करेंगे.”

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: बीजेपी नेता आज से कार्यकर्ताओं संग करेंगे चाय पर चर्चा

गोपाल राय ने कहा कि आठ फरवरी के विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में काम का बोलबाला होगा. उन्होंने कहा कि भाजपा लोगों का ध्यान हटाने की असफल कोशिश कर रही है. आप द्वारा टिकट वितरण और 15 मौजूदा विधायकों को टिकट नहीं देने पर राय ने कहा कि पार्टी ने यह फैसला विधायक का काम, जनता में धारणा और सितंबर से प्रचार अभियान में भूमिका जैसे तीन आधार पर लिया है. उन्होंने कहा, “भले ही उन्हें टिकट नहीं दिया गया है, पार्टी अभी भी उनके संपर्क में है. उनमें से अधिकांश पार्टी के साथ हैं.” उन्होंने चुनाव के बाद गठबंधन की किसी भी संभावना को खारिज करते हुए कहा, “110 प्रतिशत हम अपने दम पर सरकार बना रहे हैं. कोई गठबंधन नहीं होगा. हम इस बार 67 से अधिक सीटें जीतने की उम्मीद कर रहे हैं.”

गोपाल राय ने कहा कि आप के स्वयंसेवक ही नहीं, बल्कि दिल्ली का आम आदमी भी दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप के लिए प्रचार कर रहा है. उन्होंने कहा, “पिछली बार जब स्वयंसेवक वोट मांग रहे थे, तो इस बार आम आदमी आप के लिए वोट मांग रहा है. आप उन्हें हमारे स्वयंसेवकों की उपस्थिति के बावजूद शहर की सभी गलियों में आप के लिए चुनाव प्रचार करते देख सकते हैं.” गोपाल राय ने कहा कि पार्टी सकारात्मक अभियान चला रही है और लोग इसकी सराहना कर रहे हैं.