Delhi Assembly Election 2020: दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने बीजेपी (BJP) को चुनौती दी है. ‘आप’ (AAP) का घोषणा पत्र जारी करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी को अपना उम्मीदवार घोषित करना चाहिए. आम आदमी पार्टी चाहती है कि दिल्ली की जनता अगर बीजेपी को वोट करे तो किसे सीएम बनाने के लिए करे ये तय हो. केजरीवाल ने कहा कि हम ये भी चाहते हैं कि जो भी सीएम का उम्मीदवार हो वो दिल्ली के विकास के लिए मुझसे बहस करें.

केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी का घोषणा पत्र (Aam Aadmi Party Manifesto) आ गया है. बाकी पार्टियों का घोषणा पत्र भी आ गया है. दिल्ली के विकास के लिए बातचीत करनी चाहिए. चुनाव से पहले बहस होनी चाहिए. केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी को वह 24 घंटे का समय देते हैं. बुधवार दोपहर 1 बजे तक सीएम कैंडिडेट घोषित करें और बहस के लिए आएं कि वह दिल्ली का विकास कैसे कर सकते हैं. लोकतंत्र में ये होना चाहिए. सबकी बात सामने आनी चाहिए. हम बुधवार को एक बजे तक इंतज़ार करेंगे.

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली को हम विश्वस्तरीय शहर बनाना चाहते हैं. इसके लिए सभी के सहयोग की ज़रूरत होगी. केंद्र सरकार के सहयोग की भी ज़रूरत होगी. जनता के सहयोग की ज़रूरत है. हमने सभी की ज़रूरतों का ख्याल रखा है. आगे भी रखेंगे.

‘आप’ का घोषणा पत्र, फ्री बिजली-पानी देते रहने का वादा, बच्चों को अंग्रेजी और देशभक्ति अलग से पढ़ाएंगे

बता दें कि आम आदमी पार्टी ने आज अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है. आम आदमी पार्टी ने कहा कि दिल्ली के लोगों को फ्री बिजली और पानी मिलता रहेगा. आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने अपने घोषणा पत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली के साथ ही महिलाओं को लेकर भी कई वादे किये हैं. एक वादा ये भी है कि कच्ची कॉलोनियों को नियमित किया जाएगा. घोषणा पत्र में ये भी कहा गया है कि स्कूलों में देशभक्ति का पाठ्यक्रम लागू कराया जाएगा. दुनिया का सबसे बड़ा मेट्रो रेल बनाने का वादा भी किया है.

Delhi Election 2020: दिल्ली में केजरीवाल की AAP का फिर होगा कब्जा, सर्वे में BJP को इतनी सीटें मिलने का अनुमान

घोषणा पत्र में कहा गया कि यमुना को साफ़ किया जाएगा. हर घर सीधे राशन कार्ड पहुंचाए जाएंगे. घर घर राशन पहुंचाने का काम होगा. 24 घंटे साफ़ पानी की की सुविधा होगी. महिलाओं के लिए घर से काम करने की सुविधा उपलब्ध कराएंगे. जो महिलाएं काम कर सकती हैं और परिवार की जिम्मेदारी के चलते नहीं कर पाती हैं, इसके लिए लिए उनके आसपास या घरों पर ही काम दिलाया जाएगा. 10 लाख वरिष्ठ नागरिकों को तीर्थ यात्रा कराएंगे. 2 करोड़ पेड़ लगाएंगे.