Delhi Assembly Election 2020: भारतीय जनता पार्टी (BJP) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) नहीं, बल्कि उनका चेहरा ब्रांड है. उन्होंने कहा कि यह बात खुद आम आदमी पार्टी (Aam Admi Party) और अरविंद केजरीवाल ने भी अपने प्रचार के जरिए बता दिया है. मुख्यमंत्री पद के सवाल पर मनोज तिवारी ने कहा कि पार्टी ने किसी को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित नहीं किया है, और जब भाजपा विधानसभा चुनाव जीत जाएगी तब विधायक मुख्यमंत्री चुनेंगे. Also Read - Nathuram Godse की मूर्ति लगाने में शामिल रहे Hindu Mahasabha के नेता ने ज्‍वाइन की Congress, एमपी में सियासत गर्माई

मनोज तिवारी ने कहा, “जो व्यक्ति अपनी पार्टी के प्रचार में मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) के ब्रांड का इस्तेमाल करता है, उसने खुद बता दिया कि केजरीवाल ब्रांड नहीं है मनोज तिवारी ब्रांड हैं. मैं भाजपा अध्यक्ष के रूप में काम कर रहा हूं. जब गाना गाता हूं तो पैसे मिलते हैं, सिनेमा करता हूं पैसे मिलते हैं, नृत्य करता हूं तो पैसे मिलते हैं. मेरी एक ब्रांड वैल्यू है. इस नाते मेरी ब्रांड वैल्यू के अनुसार केजरीवाल को अपने प्रचार के गाने में मेरे चेहरे के इस्तेमाल पर 500 करोड़ रुपये देने पड़ेंगे. मैंने बौद्धिक संपदा अधिकार अधिनियम के तहत दावा कर दिया है. यह पैसा उन्हें दिल्ली सरकार के खजाने से नहीं, पार्टी के फंड से देना होगा.” Also Read - Who Is Paayel Sarkar: कौन हैं पायल सरकार? जिन्होंन आज थाम लिया भाजपा का दामन

आप कहती है कि केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के मुकाबले भाजपा के पास कोई चेहरा नहीं है? इस सवाल पर तिवारी ने मुस्कुराते हुए कहा, “अब तो आम आदमी पार्टी ने भी कह दिया कि उनके पास चेहरा ही नहीं है. जब उनके गाने पर ही उनका चेहरा नहीं आ पाया तो फिर क्या कहें. वह तो अपने गाने में मेरे चेहरे का इस्तेमाल करते हैं.” Also Read - West Bengal: BJP अध्‍यक्ष JP Nadda ने लॉन्‍च किया 'सोनार बांग्‍ला' अभियान, एक्‍ट्रेस Payel Sarkar ने ज्‍वाइन की भाजपा

क्या मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी उठाने को वह तैयार हैं?

भाजपा ने 2016 में जिस तरह से मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) को प्रदेश अध्यक्ष बनाया, यदि चुनाव में जीत मिलती है तो क्या मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी उठाने को वह तैयार हैं? उन्होंने चतुराई से घुमाकर जवाब दिया. उन्होंने कहा, “दिल्ली में मेरी जिम्मेदारी पार्टी अध्यक्ष की है. मैं प्रदेश अध्यक्ष हूं. जब प्रधानमंत्री जी आते हैं तो बगल मैं ही बैठता हूं. भले ही हमारे केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन जी सब कुछ हैं. इतनी बड़ी जिम्मेदारी मिलने के बाद भी अगर केजरीवाल और कांग्रेस को समझ नहीं आता है तो उनको और क्या समझा सकते हैं?”

मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने पार्टी की मजबूती के सवाल पर कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के मुकाबले कौन नेता है, मोदी जी भी दिल्ली में ही बैठते हैं. राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) का कुशल संचालन है. जेपी नड्डा (JP Nadda) के पास छोटे-छोटे कार्यकर्ताओं के बीच बैठकर उन्हें शक्ति देने की कुशलता है. दिल्ली में पार्टी के पास सभी सांसदों का काम है. इसके आगे कौन मुकाबला करेगा?” मनोज तिवारी ने आप को झूठी पार्टी बताते हुए कहा, “जब आप मनोज तिवारी का झूठा फोटो लगा सकते हो तो आपका हर दावा झूठा है. बैनर-पोस्टर में जो स्कूल-कॉलेज की फोटो लगाकर वे कहते हैं कि शिक्षा बड़ी चमकदार हो गई, महिलाएं बड़ी खुश हो गईं, इसका मतलब सब चीजें फेक हैं. पूरी पार्टी और उसकी सोच ही फेक है. अब हमारा काम और आसान हो गया है. अब केजरीवाल को एक्सपोज करने की जरूरत नहीं है. अब सिर्फ हमें दिल्ली की जनता को विजन बताने की जरूरत है.”