Delhi Assembly Election 2020: दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आगामी विधानसभा चुनाव के प्रचार के आखिरी दिन गुरुवार को कहा कि भाजपा में कोई भी मुख्यमंत्री बनने के लायक नहीं है. दिल्ली की 70 सीटों पर आठ फरवरी को मतदान होगा और 11 फरवरी को मतगणना होगी. अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने एक साक्षात्कार में कहा कि लोग जानना चाहते हैं कि भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) का मुख्यमंत्री पद का दावेदार कौन होगा.

अरविंद केजरीवाल ने पूछा कि क्या होगा अगर मुख्यमंत्री पद का दावेदार वह संबित पात्रा या अनुराग ठाकुर हुए. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा चुनाव का ध्रुवीकरण करने की कोशिश भी की और नतीजे बताएंगे कि वह सफल हुए या नहीं. केजरीवाल ने कहा, ‘आप के मतदाता वे हैं जो अच्छी शिक्षा, चिकित्सीय सुविधा, आधुनिक सड़कें, 24 घंटे बिजली चाहते हैं.’ शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ जारी प्रदर्शन पर आप के संयोजक ने आरोप लगाया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव की वजह भाजपा ने सड़कें साफ नहीं कराई हैं. केजरीवाल ने पूछा, ‘गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) को मार्ग साफ करने से क्या रोक रहा है? सड़क जाम रखने में अमित शाह का क्या हित छुपा है? वे दिल्ली के लोगों को परेशान और प्रदर्शन पर गंदी राजनीति क्यों करना चाहते हैं?’

मिलिए अरविंद केजरीवाल की सारथी बनीं IITian बेटी से, नौकरी से छुट्टी लेकर घूम रहीं दिल्ली की गलियां

भाजपा पर प्रहार जारी रखते हुए उन्होंने कहा कि भगवा पार्टी के नेता दिल्ली की अनधिकृत कॉलोनियों को ‘पूरी तरह भूल गए’ हैं और लोगों को गुमराह कर रहे हैं. केजरीवाल ने कहा, ‘आप के सत्ता में वापस आने पर दिल्ली सरकार ‘मुफ्त योजनाएं’ जारी रखेंगी, हम ऐसी जरूरत पड़ी तो ऐसी और योजनाएं लाएंगे.’