नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) को दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में विवादित बयान देने के लिये मंगलवार को कारण बताओ नोटिस जारी कर दो दिन में जवाब देने को कहा है. आयोग के सूत्रों के अनुसार आयोग ने ठाकुर से 30 जनवरी को दोपहर 12 बजे तक जवाब देने को कहा है. आयोग ने इस मामले में दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) की रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई की है. Also Read - क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की BJP से कांग्रेस में वापसी होगी, राहुल गांधी ने आखिर क्यों कही ये बात?

सीईओ कार्यालय द्वारा आयोग को मंगलवार को सौंपी गई रिपोर्ट में केन्द्रीय मंत्री और भाजपा नेता ठाकुर द्वारा दिल्ली में चुनाव प्रचार के दौरान एक रैली में भड़काऊ नारेबाजी करने की पुष्टि की गयी थी. रिपोर्ट में भाजपा के स्टार प्रचारक और पश्चिमी दिल्ली से सांसद वर्मा द्वारा एक साक्षात्कार में शाहीन बाग के बारे में भड़काऊ बयान देने की भी पुष्टि की गयी है. आयोग के सूत्रों के अनुसार सीईओ कार्यालय से मिली रिपोर्ट के आधार पर ठाकुर को नोटिस भेजा गया है. वहीं, वर्मा को भी नोटिस भेजने की कार्रवाई जारी है. अनुराग ठाकुर ने मंच से नारे लगवाए थे कि ‘देश के गद्दारों को, गोली मारो सालों को’. Also Read - राहुल गांधी ने कहा- ज्योतिरादित्य की कांग्रेस में एक हैसियत थी, अब BJP में दर्शकों की तरह पीछे बैठते हैं

प्रदर्शनकारियों के खिलाफ BJP MP का बयान, वे आपके घरों में घुसेंगे, आपकी बहन- बेटियों से रेप करेंगे Also Read - Assam Assembly Election 2021: असम में चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा नहीं करेगी भाजपा

बता दें कि बीजेपी सांसद परवेश साहिब सिंह वर्मा ने मंगलवार को शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों के खिलाफ विवादास्पद टिप्पणी की थी. उन्‍होंने कहा था, जो नागरिकता अधिनियम और नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ हैं. वे आपके घरों में प्रवेश करेंगे, आपकी बहनों और बेटियों का बलात्कार करेंगे और उन्हें मार डालेंगे,” बीजेपी सांसद वर्मा ने कहा “लाखों लोग वहां (शाहीन बाग) इकट्ठा होते हैं. दिल्ली के लोगों को सोचना होगा और फैसला लेना होगा. वे आपके घरों में प्रवेश करेंगे, आपकी बहनों और बेटियों का बलात्कार करेंगे और उन्हें मार डालेंगे. आज का समय है, मोदीजी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) और अमित शाह कल आपको बचाने नहीं आएंगे. यह पूरी तरह से बेहतर होगा, अगर दिल्ली के लोग आज जागते हैं,”