नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में शनिवार को तीन अल्पसंख्यक बहुल सीटों मुस्तफाबाद, मटिया महल और सीलमपुर पर सबसे अधिक मतदान हुआ. चुनाव अधिकारियों ने यह जानकारी दी. Also Read - Delhi Assembly Election 2020 के दौरान किस राजनीतिक दल ने कहां-कितना किया खर्च, ADR ने किया खुलासा

अधिकारियों द्वारा दिये गए आंकड़ों के अनुसार उत्तर पूर्वी दिल्ली के मुस्तफाबाद में शाम पांच बजे तक 66.29 प्रतिशत मतदान हो चुका था. पुरानी दिल्ली के मटियामहल इलाके में 65.62 मतदान हुआ. यहां सीएए के खिलाफ प्रदर्शन हुए हैं. Also Read - Year Ender 2020: Corona से Ram Mandir के शिलान्यास तक, इन Top 20 बड़ी घटनाओं के लिए आपके जेहन में रहेगा साल 2020 | Google Search

उत्तर-पूर्वी दिल्ली की एक और अल्पसंख्यक बहुल सीलमपुर में 64.92 मतदान हुआ है. यहां भी सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. वहीं पूरी दिल्ली में शाम पांच बजे तक 57.87 प्रतिशत मतदान हो चुका था. Also Read - दिल्ली विधानसभा चुनाव में हार पर संघ की नसीहत, हर बार मदद नहीं कर सकते मोदी और शाह

दिल्ली विधानसभा चुनाव नतीजों की जहां तक बात है, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए कोई बड़ी राहत नहीं मिलने वाली है, लेकिन आईएएनएस-सीवोटर एग्जिट पोल के अनुसार पार्टी पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में इस बार अपनी स्थिति मजबूत कर पाने में सफल हुई है.

एग्जिट पोल के अनुसार, 2015 में भाजपा को जहां केवल तीन सीटें ही मिली थीं, इसबार उसे संभवत: पांच से 19 के बीच सीटें मिल सकती हैं. अगर इन आंकड़ों में भाजपा सबसे कम सीट भी जीतती है तो भी पार्टी का प्रदर्शन 2015 से बेहतर ही रहेगा.

(इनपुट भाषा)