Delhi Assembly Election 2020: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) को बहस की चुनौती देने के एक दिन बाद गुरुवार को कहा कि वह विवादास्पद नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act) विरोधी धरनास्थल शाहीनबाग (Shaheen Bagh) पर भी बहस को तैयार हैं. पूर्व भाजपा प्रमुख ने विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान इस मुद्दे को दो बार उठाया है. मीडिया से बातचीत में केजरीवाल ने कहा कि लोकतंत्र में बहस महत्वपूर्ण है और लोग अपने सवालों के जवाब चाहते हैं. केजरीवाल ने कहा कि लोगों के सवालों से बच निकलना हमेशा उचित नहीं होता है.

केजरीवाल की चुनौती, ‘BJP कल 1 बजे तक CM कैंडिडेट घोषित करे, मैं बहस के लिए यहीं बैठा मिलूंगा’

केजरीवाल ने कहा, “मैंने शाह को बहस के लिए चुनौती दी. मैं यह कहना चाहता हूं कि मैं किसी भी विषय पर बहस के लिए तैयार हूं. वह ‘शाहीनबाग, शाहीनबाग, शाहीनबाग’ कह रहे हैं, मैं इस पर बहस के लिए भी तैयार हूं. लेकिन वह सार्वजनिक बहस के लिए तैयार नहीं हैं, यह बहुत दुखद है.” उन्होंने भगवद्गीता का भी जिक्र किया और कहा कि हिंदू धर्मग्रंथ भी कहते हैं कि सच्चा हिंदू कभी युद्ध के मैदान से नहीं भागेगा.

केजरीवाल ने मनोज तिवारी को दी चुनौती, कहा- BJP शासित राज्यों में दें फ्री बिजली-पानी

बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने इससे पहले भी बीजेपी को चुनौती दे चुके हैं. वह कह चुके हैं कि बीजेपी सीएम कैंडिडेट घोषित करे. जो भी दिल्ली में सीएम पद का कैंडिडेट होगा, मैं उससे बहस करना चाहता हूं. मैं दिल्ली के विकास को लेकर बहस करना चाहता हूं. आखिर जनता को पता चलना चाहिए कि अगर वो बीजेपी को वोट दें तो किसे सीएम बनाने के लिए दें. केजरीवाल ने इसके लिए 24 घंटे का समय दिया था. उन्होंने कहा था कि दिए गए समय पर वह प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. केजरीवाल ने ऐसा किया भी. उन्होंने कहा कि आखिर क्यों सीएम कैंडिडेट घोषित नहीं किया जा रहा है. वहीं, मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने केजरीवाल को आतंकी कह दिया और शाहीन बाग़ से जोड़ दिया. केजरीवाल ने अब इसी को लेकर कहा कि वह शाहीन बाग़ पर भी बहस को तैयार हैं.

चुनौती देने के बाद अरविंद केजरीवाल ने आज की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- ‘दिल्ली BJP को क्यों चुने, अमित शाह बहस को आएं’