नई दिल्ली: दिल्ली चुनाव के लिए प्रचार करते हुए राहुल गांधी ने केंद्र सरकार और आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा है. राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार उपक्रम बेच रही है. अगर ऐसा ही रहा तो ये ताजमहल भी बेच सकते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि हमारे इतिहास में नफरत की जगह नहीं है, हमारा देश प्रेम वाला देश है. वे (भाजपा) धर्म की बात करते हैं लेकिन कोई धर्म हिंसा की बात नहीं करता. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मंगलवार को हमला करते हुए कहा कि उनकी दिलचस्पी नौजवानों को नौकरी देने में नहीं है. इसके उलट वे सत्ता में रहने के लिए एक भारतीय को दूसरे भारतीय से लड़ाना चाहते हैं. Also Read - पीएम मोदी ने देश में कोरोना की स्थिति को लेकर शीर्ष अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक, दिए कई सुझाव

राहुल गांधी ने एक चुनावी रैली में कहा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण यह बताने को तैयार नहीं हैं कि कितने युवाओं को रोजगार मिला. केन्द्र सरकार अडानी और अंबानी के लिए है, यह सरकार सिर्फ 15 लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए है. राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी पर सरकारी उपक्रमों को बेचने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह ताजमहल भी बेच सकते हैं. हमारे इतिहास में नफरत की जगह नहीं है, हमारा देश प्रेम वाला देश है. Also Read - जूना अखाड़ा ने कुंभ समापन का ऐलान किया, पीएम मोदी ने फोन कर महामंडलेश्वर अवधेशानंद से की थी अपील

PM मोदी ने कहा- नफरत फैलाने वाली ‘आप’ से दिल्ली को मुक्ति चाहिए, सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाने की सजा मिले Also Read - भारत में विकराल रूप ले रहा कोरोना, आज रात मंत्रियों और अफसरों के साथ अहम बैठक करेंगे पीएम मोदी

राहुल गांधी ने कहा- मोदी और आरएएस का यह किस तरह का ‘‘हिंदू धर्म” है; हिंदू धर्म सभी को साथ लेकर चलने की बात करता है. विश्वविद्यालयों, कॉलेजों से स्नातक कर निकल रहे युवा डरे हुए हैं कि उन्हें नौकरी मिलेगी या नहीं; यह आपके प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का दोष है. भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी को निशाने पर लेते हुए गांधी ने कहा कि दोनों का मकसद समाज में नफरत फैलाना है, जो कांग्रेस ने कभी नहीं किया. आठ फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले अपनी पहली रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आर्थिक मंदी और बेरोज़गारी के मुद्दे से नहीं निपटने और हिंसा को बढ़ावा देने के लिए भाजपा को आड़े हाथों लिया.

अरविंद केजरीवाल की ये 10 बड़ी चुनौतियां, चुनाव में क्या बीजेपी के पास है इसकी काट

जंगपुरा से कांग्रेस प्रत्याशी तरविंदर सिंह मारवाह के पक्ष में आयोजित रैली में गांधी ने कहा कि मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का यह कैसा “हिंदू धर्म” है. हिंदू धर्म में सबको साथ लेकर चलने की बात है. उन्होंने कहा, “भाजपा का कोई ऐसा नेता दिखाइए जिसने पाकिस्तान में ‘हिन्दुस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया हो. कांग्रेस के जंगपुरा के उम्मीदवार ने पाकिस्तान में ऐसा किया था और जेल गए थे.’’