नई दिल्ली: अब तक आपने ऑस्कर अवॉर्ड, ग्रैमी अवॉर्ड और फिल्मफेयर अवॉर्ड का नाम तो जरूर सुना होगा लेकिन दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने एक नए अवॉर्ड की शुरुआत की है. बग्गा ने इस अवॉर्ड का नाम रखा है – केजरीवाल अवॉर्ड. बग्गा ने ये अवॉर्ड उसे देने का ऐलान किया है जो सबसे बड़ा झूठा होगा. पिछले दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल द्वारा पंजाब के पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से और बीजेपी नेता नितिन गडकरी से माफी मांगने के बाद बग्गा ने केजरीवाल पर झूठा होने का आरोप लगाते हुए ये अवॉर्ड देने का ऐलान किया है.Also Read - गौतम गंभीर की केजरीवाल की अयोध्‍या यात्रा पर तंज- दिल्‍ली के CM राम जन्मभूमि पर पूजा कर अपने पाप धोने का प्रयास कर रहे

बग्गा का आरोप है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल भारत में अब तक के सबसे झूठे मुख्यमंत्री हैं और उन्होंने चुनाव से पहले किए अपने वादे पूरे नहीं किए हैं इसलिए वो उनके नाम पर सबसे बड़ा झूठे का अवॉर्ड देना चाहते हैं. बग्गा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इसकी घोषणा की है. बग्गा का कहना है कि केजरीवाल ने बिना किसी सबूत के सिर्फ राजनीतिक मकसद से अपने विरोधियों के खिलाफ झूठे आरोप लगा दिए और जब उन्हें लगा कि वो फंस सकते हैं तो माफी मांग ली है, ये दिखाता है कि वो कितने बड़े झूठे हैं. Also Read - Delhi Me Kab Khulenge School: दिल्ली में जल्द खुलेंगे छठी से 8वीं तक के स्कूल! DDMA की समिति ने दिया यह सुझाव

Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में कोरोना के 27 नए मामले, आज नहीं गई किसी की जान; एक्टिव मामले 300 के करीब

केजरीवाल के नाम पर रखे गए अवॉर्ड के बारे में जानकारी देते हुए बग्गा ने लिखा, ”भेजें अपना सबसे बड़ा झूठ और पाएं केजरीवाल अवॉर्ड”. अवॉर्ड के पोस्टर में लिखा है, तजिंदर बग्गा प्रस्तुत करते हैं, केजरीवाल अवॉर्ड. व्हॉट्सऐप करें अपना सबसे बड़ा झूठ अपने नाम, लोकेशन के साथ 9115929292 पर, देश के सबसे झूठे को मिलेगा केजरीवाल अवॉर्ड और 5100 रुपये कैश इनाम.

मीडिया से बात करते हुए बग्गा ने कहा, केजरीवाल के नाम पर झूठा अवॉर्ड देने का आइडिया उन्हें केजरीवाल के जनता को धोखे देने के बाद आया, बग्गा ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने चुनाव से पहले जनता से फ्री वाई-फाई, डीटीसी बसों में महिलाओं के लिए खास सुरक्षा व्यवस्था, 500 नई स्कूल बस और दिल्ली में 20 नए कॉलेज खोलने का वादा किया था लेकिन उनमे से एक भी वादा अभी तक पूरा नहीं हो पाया है.