नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली के सरिता विहार इलाके में कुछ युवकों ने एक कार से टक्कर से दिल्ली पुलिस का एक सिपाही को टक्‍कर मार दी, इससे वह घायल हो गया. पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि सिपाही जितेंद्र के दोनों पैरों की हड्डियां टूट गईं. उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है. Also Read - Parkash Singh Badal Returns Padma Award: पंजाब के पूर्व CM प्रकाश सिंह बादल ने पद्म विभूषण सम्‍मान लौटाया

पुलिस ने बताया कि यह घटना मंगलवार और बुधवार की रात तब हुई, जब कांस्टेबल जितेंद्र और अंकुर सरिता विहार इलाके में गश्त ड्यूटी पर थे. वे रात में 12:05 बजे एच-पॉकेट मार्केट पहुंचे और देखा कि हरियाणा के नंबर वाली एक बीएमडब्ल्यू कार पर एक केक रखा है और करीब 8-10 लोग शोर मचा रहे हैं. Also Read - Farmer Protest latest News: किसान नेताओं और सरकार के बीच चौथे चरण की मीटिंग शुरू

सिपाहियों ने उन्हें वापस घर जाने को कहा, लेकिन वे उनसे बहस करने लगे. सिपाहियों ने जब उन्हें रुकने का संकेत दिया तो बीएमडब्ल्यू के ड्राइवर ने अंकुर को टक्कर मारने की कोशिश की, लेकिन वह कूद गया और खुद को बचाने में कामयाब रहा. इसके बाद कार चालक ने जितेंद्र को टक्कर मार दी और भाग गया. Also Read - किसानों और केंद्र के बीच की वार्ता से पहले आज पंजा‍ब के CM अमरिंदर सिंह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलेंगे

सरिता विहार में बीएमडब्ल्यू कार पुलिसकर्मी के पैरों के ऊपर चढ़ा दी और पुलिस के पीछा करने के बाद उसका पैर कुचल गया. घटना स्थल पर कार के भीतर से शराब बरामद की गई. आईपीसी और मोटर वाहन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है और आरोपियों पकड़ने के लिए जांच जारी है.

कार के रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर पता चला कि कार अमित भड़ाना के नाम पर है, जिसने मदनपुर खदर निवासी अपने चचेरे भाई कुलदीप भंडारी को दी थी. कुलदीप अपने दोस्तों के साथ कार में अपना जन्मदिन मना रहा था. दोनों आरोपी फरार हैं. पुलिस उसे गिरफ्तार करने के लिए दबिश दे रही है.

पुलिस उपायुक्त (दक्षिणपूर्व) आर पी मीणा ने कहा, “अंकुर ने सरिता विहार थाने के आपातकालीन प्रतिक्रिया वाहन (ईआरवी) को फोन किया. ईआरवी देखने के बाद आरोपी जनता फ्लैट, मदनपुर खादर की ओर भाग गए. पुलिस ने उनका पीछा किया.” उन्होंने बताया कि भारतीय दंड संहिता और मोटर वाहन अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है और जांच की जा रही है.