नई दिल्लीः देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि से हालात चिंताजनक होते जा रहे हैं. महाराष्ट्र के अलावा राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी हालात बेहद गंभीर हैं. दिल्ली कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 1 लाख के करीब पहुंच गई है. ऐसे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार (6 जुलाई 2020) को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली में कोरोना के हालातों पर चर्चा की और बेड की स्थिति और निजी अस्पतालों के रवैये के बारे में भी बताया. Also Read - Maharashtra Covid-19 Update: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 12,248 नए मामले, 390 लोगों की मौत

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सीएम केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में कोरोना के मामले 1 लाख के करीब पहुंच गए हैं. लेकिन, लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इनमें से करीब 72,000 लोग ठीक भी हो चुके हैं. Also Read - फिलहाल बंद रहेंगे स्कूल, अभिभावकों की ली जाएगी राय; शिक्षा मंत्री बोले- गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस के अनुसार निर्णय लेंगे

CM केजरीवाल ने आगे कहा कि- ‘25,000 सक्रिय रोगियों में से 15,000 का इलाज घर पर किया जा रहा है. मृत्यु दर में भी कमी आई है. हमने देश का पहला कोरोना प्लाज्मा बैंक भी शुरू किया है. हमारे परीक्षणों से पता चला है कि प्लाज्मा थेरेपी के माध्यम से रोगियों की सेहत में भारी सुधार हो रहा है.’ इसके साथ ही उन्होंने लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने के लिए आगे आने की भी अपील की.

उन्होंने कहा- जिन लोगों को प्लाज्मा की जरूरत होती है, वे इसे दान करने के लिए आगे आने वालों की तुलना में कहीं अधिक हैं. मतलब, प्लाज्मा डोनेट करने वालों की संख्या अभी भी काफी कम है.

मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि जो भी प्लाज्मा दान करने के योग्य हैं वह बिना किसी चिंता के प्लाज्मा डोनेट करें. क्योंकि इससे घबराने की जरूरत नहीं है. इससे कोई दर्द या कमजोरी नहीं होगी, प्लाज्मा दान करने वाले लोग समाज के लिए निस्वार्थ सेवा कर रहे हैं.

दिल्ली सीएम ने कहा कि – ‘हमारी टीम लोगों से अनुरोध कर रही है कि आप अगर प्लाज्मा डोनेट करने के योग्य हैं तो जरूर दान करें. अगर आपको ऐसी कोई कॉल आती है तो कृपया मना न करें. मैंने खुद लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने को लेकर बात की है और लोग तैयार भी हैं. जो लोग ऐसा कर रहे हैं, हमें उनका सम्मान करना चाहिए.’ इस दौरान सीएम केजरीवाल ने कई लोगों की रिकॉर्डिंग भी सुनाई.