नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि वे पूरी कोशिश करेंगे कि दिल्ली में रह रहे सभी लोगों को अच्छी इलाज की सुविधा मिल सकें. इस बीच उन्होंने बयान जारी कर कहा कि वे इसकी व्यवस्था के लिए खुद ही स्टेडियम और बैंक्वेंट हॉल जाएंगे ताकि बेड्स की व्यवस्था की जा सके. बता दें कि बीते दिनों अरविंद केजरीवाल ने एक आदेश जारी कर कहा था कि दिल्ली के निजी अस्पतालों में बेड्स की संख्या को बढ़ाई जाए. Also Read - अली फज़ल ने लोगों से की ये अपील, कहा- देश में कोरोना गरीबों ने नहीं अमीरों ने लाया है 

बता दें कि पिछले 8 दिनों दिल्ली के अस्पतालों में 1900 लोग भर्ती हुए हैं. हालांकि अब भी लगभग 4200 बेड्स खाली है. आकंड़ों की माने तो ज्यादातर सरकारी व निजी अस्पतालों में सीट्स फुल हो चुकी है. वहीं सरकार का भी मानना है कि राजधानी में जुलाई महीने में हजारों बेड्स की आवश्यकता होगी. इस कारण निजी अस्पतालों में बेड्स की संख्या बढ़ाई जाएगी. Also Read - Operation Samudra Setu: भारतीय नौसेना ने पूरा किया 'ऑपरेशन समुद्र सेतु', 3 देशों से 4000 भारतीयों की हुई वापसी

गौरतलब है कि बीते दिनों अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली सरकार के सरकारी और निजी अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज होगा. इस फैसले को उपराज्यपाल अनिल बैजल ने पलट दिया था. इसके बाद अरविंद केजरीवाल ने अब बयान जारी कर कहा है कि यह समय असहमति का नहीं है. बल्कि केंद्र सरकार और उपराज्यपाल द्वारा लिए गए फैसलों का हम पूरी तरह से पालन करेंगे. Also Read - Coronavirus in MP Update: मध्य प्रदेश में जारी कोरोना का कहर, 16 हजार से अधिक संक्रमित, 629 की मौत

केजरीवाल ने कहा कि कोरोना के खिलाफ एक जनआंदोलन को तैयार करना है. इस दौरान अगर कोई मास्क नहीं पहन रहा, कोई सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं कर रहा तो आप उनसे विनती करें और दूसरों को इस खतरे के प्रति सचेत कराएं. सीएम ने कहा कि इस दौरान सभी को मिलकर कोरोना का मुकाबला करना होगा. उन्होंने बताया कि दिल्ली में 15 जून तक 44,000 और 30 जून तक 1 लाख तो वहीं 31 जुलाई तक कोरोना के कुल 5 लाख मामले राज्य हो जाएंगे.