नई दिल्ली: देश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोविड-19 की मंगलवार को जांच कराई है. जांच रिपोर्ट आज रात या बुधवार सुबह तक आने की उम्मीद है. Also Read - भारत में कोविड-19 जांचों की संख्या एक करोड़ के पार, चीन से बहुत पीछे

एक अधिकारी ने बताया कि गले में दर्द और बुखार की शिकायत के बाद उनकी यह जांच हो रही है. उन्होंने बताया कि 51 वर्षीय मुख्यमंत्री का बुखार कम हो गया है.जांच रिपोर्ट आज रात या बुधवार सुबह तक आने की उम्मीद है. Also Read - Black Death: कोरोना के बाद चीन से निकली यह नई महामारी, यूरोप में मरे थे 5 करोड़ लोग, पढ़िए ये रिपोर्ट

मुख्यमंत्री ने हल्का बुखार और गले में दर्द होने के बाद खुद को पृथक-वास में रख लिया था. केजरीवाल रविवार दोपहर से ही किसी बैठक में शामिल नहीं हो रहे हैं. 51 वर्षीय मुख्यमंत्री मधुमेह से भी पीड़ित हैं और वह रविवार दोपहर से ही अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं. Also Read - राहुल गांधी ने PM मोदी का वीडियो शेयर कर कहा- हारवर्ड में ये तीन विफलताएं होंगी केस स्‍टडी

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को एक ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा था, चूंकि मुख्यमंत्री अस्वस्थ हैं, उन्होंने खुद को पृथक कर लिया है. उन्हें खांसी है और गले में खराश है। वह खुद की मंगलवार को कोविड-19 की जांच कराएंगे.”

इससे पहले अधिकारियों ने बताया था कि केजरीवाल को हल्का बुखार भी हो गया है. रविवार सुबह में मुख्यमंत्री ने अपने आधिकारिक आवास पर एक कैबिनेट बैठक की थी, जिसमें सिसोदिया, पर्यावरण मंत्री गोपाल राय, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन सहित कई मंत्रियों ने हिस्सा लिया था. बैठक में मुख्य सचिव विजय देव भी मौजूद थे. उन्होंने कहा कि कैबिनेट बैठक के बाद केजरीवाल ने अपने सभी आधिकारिक कार्यक्रम रद्द कर दिए.

मुख्यमंत्री पिछले दो महीने से अपनी अधिकतर बैठकें अपने घर से ही वीडियो कांफ्रेंस के जरिए कर रहे हैं लेकिन कुछ महत्वपूर्ण बैठकों के लिए दिल्ली के उप राज्यपाल कार्यालय जाते रहे हैं. दो जून को केजरीवाल और सिसोदिया उपराज्यपाल कार्यालय में एक बैठक में शामिल हुए थे, जहां अभी तक कोविड-19 के 13 मामले सामने आ चुके हैं.