Coronavirus in Delhi: दिल्ली में कोविड-19 के निषिद्ध क्षेत्रों का पुन: आकलन करने के बाद ऐसे क्षेत्रों की संख्या बढ़कर 417 हो गई है. इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 को फैलने से रोकने की बड़ी कवायद के तहत अब तक करीब 2.45 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की गई है. Also Read - नहीं जाएगी रेलवे कर्मचारियों की नौकरी, लेकिन काम बदल सकता है: भारतीय रेल

अधिकारियों ने रविवार को बताया कि केंद्र के निर्देशों के बाद निषिद्ध क्षेत्रों को लेकर समीक्षा की जा रही है. कुछ जिलों में समीक्षा का काम अभी पूरा नहीं हुआ है तथा ऐसे क्षेत्रों की संख्या और बढ़ सकती है. अधिकारी ने कहा कि पुन: मूल्यांकन से पहले राजधानी में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या 280 थी. उन्होंने से कहा, ‘‘हमने दिल्ली में घर-घर जाकर सर्वेक्षण में करीब दो लाख लोगों की कोविड-19 संबंधी स्क्रीनिंग की है. निषिद्ध क्षेत्रों में भी 45 हजार लोगों की स्क्रीनिंग की गयी है.’’ Also Read - Earthquake in Delhi: दिल्ली-NCR में भूकंप के झटकों से कांपी धरती, रिएक्टर स्केल पर 4.7 मापी गई तीव्रता

प्रत्येक घर में स्क्रीनिंग की प्रक्रिया छह जुलाई तक पूरी की जानी है. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में 34.35 लाख घर हैं जिनमें 33.56 लाख शहरी क्षेत्रों में और 79,574 ग्रामीण इलाकों में हैं. दिल्ली सरकार द्वारा जारी कोविड-19 कार्रवाई योजना के अनुसार निषिद्ध क्षेत्रों के पुन: आकलन का काम 30 जून तक पूरा हो जाना चाहिए. Also Read - इशांत शर्मा ने कहा- 2013 के बाद महेंद्र सिंह धोनी को अच्छे से समझ पाया था

बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी इस समय कोरोना के प्रकोप से जूझ रही है. अनलॉक 1.0 के दौरान दिल्ली में संक्रमण तेजी से फैला है. दिल्ली में इस समय कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या 80 हजार को पार कर गई है जबकि इस वायरस से राजधानी में 2 हजार 550 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है.