नई दिल्ली: दक्षिणपूर्वी दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में नए नागरिकता कानून को लेकर चल रहे प्रदर्शन के बीच गोली चलाने वाले व्यक्ति कपिल बैंसला को दिल्ली की एक अदालत ने जमानत दे दी. पुलिस और आरोपी की ओर से पेश वकीलों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने शुक्रवार को बैंसला को जमानत दे दी. Also Read - मौलाना साद को गिरफ्तार नहीं करेगी दिल्ली पुलिस, सामने आए तो क्वारंटाइन में रखा जाएगा

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश गुलशन कुमार ने कहा, ‘‘सभी तथ्यों और परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए, आरोपी कपिल बैंसला को 25,000 रुपये की जमानत बांड और इतनी ही राशि की प्रतिभूति जमा करने पर जमानत दी जाती है.’’ बैंसला के वकील ने अदालत से कहा कि उनके मुवक्किल की समाज में गहरी पैठ है और उनके फरार होने की कोई आशंका नहीं है. इसमें यह भी कहा कि उनके खिलाफ पहले कोई मामला दर्ज नहीं है. Also Read - निजामुद्दीन मरकज को खाली कराने वाली टीम में शामिल रहे दिल्‍ली पुलिस के 7 जवान छुट्टी पर भेजे गए

आवेदन में आगे कहा गया कि आवेदक पर उनकी पत्नी और नाबालिग बच्चे की जिम्मेदारी है और उन्हें न्यायिक हिरासत में रखने से कोई उद्देश्य नहीं सध रहा है. पुलिस ने जमानत याचिका का विरोध किया. उसने कहा कि बैंसला के खिलाफ आरोप गंभीर प्रकृति के हैं और मामला शुरुआती चरण में है. Also Read - बेटे ने पुलिस से फोन कर कहा- 'पापा शराब पीकर लॉकडाउन का मजाक उड़ा रहे हैं, इन्हें काबू में करें'

एक फरवरी को बैंसला ने शाहीन बाग में हवाई फायर किए थे.

पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर बैंसला ने ‘जय श्री राम’ का नारा लगाया था और कहा था, ‘‘हमारे देश में और किसी की नहीं चलेगी, सिर्फ हिंदुओं की चलेगी.’’

(इनपुट भाषा)