नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक इमरान हुसैन की ओर से दायर आपराधिक मानहानि मामले में पेश नहीं होने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया है. अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट हरविंदर सिंह ने कहा, “आरोपी कपिल मिश्रा के खिलाफ डीसीपी के माध्यम से संबंधित राशि के रूप में 10,000 रुपये का जमानती वारंट जारी किया गया है.” Also Read - पंजाब से हरियाणा, दिल्‍ली तक किसान मार्च की गूंज, पानी की बौछारें, आंसू गैस, लाठी चार्ज...पूरे हंगामें की खास Pics

दिल्ली की केजरीवाल सरकार के मंत्री इमरान हुसैन द्वारा दायर मानहानि मामले में एडिशनल चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट हरविंदर सिंह ने कपिल मिश्रा के खिलाफ वारंट जारी कर उन्हें 27 अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है. बता दें कि दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन ने भाजपा नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ मानहानि याचिका दायर की है.
हुसैन ने उनके खिलाफ आपराधिक मानहानि का केस दर्ज करवाया है. Also Read - Delhi Night Curfew Latest News: दिल्‍ली सरकार 3-4 दिन में रात के कर्फ्यू पर लेगी फैसला

उनका आरोप है कि दिल्ली में 17 हजार पेड़ों को काटने के आदेश वाले मामले में उन्होंने उन पर झूठे आरोप लगाए थे. आप नेता ने अदालत को बताया था कि मिश्रा ने दो अन्य नेताओं के साथ मिलकर उनकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने के लिए झूठे आरोप लगाए थे, जिससे भविष्य के चुनावों में उनकी प्रतिष्ठा प्रभावित होने की संभावना थी. Also Read - किसान विरोध प्रदर्शन: हरियाणा पुलिस की अपील, NH 10 और NH 44 पर यात्रा करने से बचें, हो सकती है मुश्किल