नई दिल्‍ली: दिल्‍ली में 2012 के निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में दोषियों में से एक पवन गुप्‍ता की दया याचिका राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा खारिज किए जाने के बाद बुधवार को ही दिल्‍ली सरकार की ओर से राज्‍य के अभियोजन दिल्‍ली की कोर्ट में पहुंचा. अभियोजन ने चारों दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने के लिए कोर्ट से मांग की है. अब कोर्ट दोषियों के डेथ वारंट पर गुरुवार दोपहर बाद फैसला कर सकती है. अब सेशन कोर्ट 14 दिन बाद की तारीख का नया डेथ वारंट जारी कर सकती. Also Read - निर्भया के दोषियों के लिए रात 2:30 बजे खुली सर्वोच्च अदालत, अंतिम वक्त पर नहीं टली फांसी

कोर्ट के अतिरिक्‍त सत्र न्‍यायाधीश डी राणा ने दिल्‍ली सरकार के अभियोजन की दायर प्रार्थनापत्र पर दोषियों को नोटिस जारी किया. कोर्ट ने दोषियों से अभियोजन पक्ष की अपील पर जवाब मांगा है और मामले को गुरुवार दोपहर 2 बजे तक के लिए स्‍थगित कर दिया है. Also Read - निर्भया मामला: मृत्युदंड पर रोक को लेकर दोषी मुकेश ने दायर की याचिका, कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

डेथ वारंट और अहम बिंदु
दिल्ली सरकार ने अदालत में कहा कि निर्भया मामले में दोषियों ने सभी कानूनी विकल्पों का उपयोग कर लिया है, अब कोई
विकल्प शेष नहीं रहा.
– निर्भया गैंगरेप और मामले में दोषियों में से एक पवन गुप्‍ता की दया याचिका राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज बुधवार को खारिज कर दी है
– इससे पहले सोमवार को सुप्रीम कोर्ट से पवन की क्यूरेटिव याचिका खारिज हो चुकी है
– पवन गुप्‍ता की दया याचिका खारिज होने के साथ ही मामले के चारों दोषियों की अपील, पुनर्विचार याचिका, कयूरेटिव पि‍टिशन और दया याचिका का निपटारा हो चुका है
– मामले के सभी चारों दोषी अपने सभी कानूनी अधिकारों का उपयोग कर चुके हैं
– पटियाला हाउसकोर्ट ने 17 फरवरी को चार दोषियों मुकेश कुमार सिंह, पवन, विनय और अक्षय
कुमार के खिलाफ 3 मार्च को डेथ वारंट जारी किया था
– लेकिन कोर्ट ने दो मार्च को इस मामले में चारों दोषियों की फांसी पर अगले आदेश तक रोक लगा दी थी
– चारों दोषियों को पहले मंगलवार सुबह छह बजे फांसी दी जानी थी.
– निर्भया मामले में दोषी पवन की दया याचिका राष्ट्रपति ने खारिज की
– इससे पहले सोमवार को सुप्रीम कोर्ट से पवन की क्यूरेटिव याचिका खारिज हो चुकी है
– अब इस मामले के सभी चारों दोषियों के सभी क़ानूनी अधिकार का इस्तेमाल हो चुका है
– सभी अधिकारों अपील, पुनर्विचार याचिका, कयूरेटिव पेटिशन और दया याचिका का प्रयोग हो चुका है
– पटियाला हाउस ट्रायल कोर्ट ने 17 फरवरी को चार दोषियों मुकेश कुमार सिंह, पवन, विनय और अक्षय कुमार के खिलाफ 3
मार्च को फांसी पर लटकाने के लिए डेथ वारंट जारी किया था
– पवन गुप्‍ता की दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित होने के कारण ट्रायल कोर्ट को डेथ वारंट रद्द करना पड़ा था.
– अब सेशन कोर्ट 14 दिन बाद की तारीख का नया डेथ वारंट जारी करेगी Also Read - Delhi Violence: PFI का दिल्ली प्रमुख परवेज व सचिव इलियास गिरफ्तार, कोर्ट ने 7 दिन की हिरासत में भेजा