नई दिल्ली: बीते 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोरोना वायरस से 19 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना वायरस से अभी तक 148 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है. दिल्ली में कोरोना रोगियों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ रहा है. शनिवार से लेकर रविवार सुबह तक इसमें 422 नए रोगी जुड़ गए हैं. दिल्ली में 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 422 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद रविवार को दिल्ली में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 9755 हो गए हैं. Also Read - Darwin Cricket League T20: ऑस्ट्रेलिया में T20 टूर्नामेंट का सजा मंच, पहले दिन खेले जाएंगे 6 मैच

स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा, “पहले लगता था कि गर्मी शुरू होगी, तो कोरोना चला जाएगा. हमें विश्वास था कि एक मई इसका आखरी दिन होगा और हमेशा के लिए चला जाएगा, लेकिन अब यह जाने वाला नहीं लग रहा है. ब्राजील समेत कई देशों में काफी अधिक गर्मी बढ़ गई है, इसके बाद भी कोरोना पर ज्यादा असर नहीं पड़ा है.” Also Read - सीएम योगी ने कोविड-19 के खिलाफ जंग में स्वास्थ विभाग के लिए उठाया ये खास कदम, आप भी कहेंगे वाह क्या बात है

दिल्ली सरकार ने कोरोना के विषय में लिखित जानकारी साझा करते हुए कहा, “कोरोना से मरने वालों में सबसे अधिक 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के व्यक्ति हैं. दिल्ली में ऐसे कुल 1412 व्यक्तियों को कोरोना वायरस हुआ है, जिनमें से अब तक तक 70 की मृत्यु हो चुकी है. वहीं 50 से 60 वर्ष की उम्र के 1493 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें से 40 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है. सबसे अधिक कोरोना रोगी 50 वर्ष या उससे कम उम्र के व्यक्ति हैं. 50 वर्ष से कम उम्र के 6850 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें से 31 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है.” Also Read - पूर्व पाक गेंदबाज ने कहा- खाली स्टेडियम में टी20 विश्व कप का आयोजन सही नहीं

सत्येंद्र जैन ने कहा, “अब हमें कोरोना के साथ जीना सीखना ही पड़ेगा. जहां तक कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की बात है, तो हमें इसकी संख्या पर नहीं जाना चाहिए. हमें इसके बढ़ने के प्रतिशत को देखना चाहिए. कल इसके बढ़ने का दर करीब 5 प्रतिशत था. अभी यहां कोरोना मरीजों के बढ़ने का दर 5 से 5.5 प्रतिशत है. कभी इसके बढ़ने की दर 20 प्रतिशत थी. फिर 12 हुई. इसके बाद कम हुआ और अब 5.6 प्रतिशत है.”

सत्येंद्र जैन ने कहा कि लोगों ने सुझाव दिया है कि बसें चलाईं जाएं, लेकिन पूरी क्षमता में नहीं बल्कि कुछ बसें चलाई जाएं. इसी तरह,ए मेट्रो चलाने का सुझाव आया है. दिल्ली में कोरोना के 4202 रोगी अभी तक ठीक भी हो चुके हैं. इनमें से 276 रोगियों को बीते 24 घंटे के बीच अस्पताल से छुट्टी दी गई है. रविवार को शहर में कुल 5405 कोरोना के एक्टिव रोगी हैं.

दिल्ली में कोरोना के 152 रोगी आईसीयू में हैं, जबकि उसमें से 21 लोग वेंटिलेटर पर हैं. गौरतलब है कि दिल्ली में अभी तक 1,35,791 टेस्ट किए जा चुके हैं. दिल्ली सरकार उन सभी इलाकों को हॉटस्पॉट मानकर सील कर रही है जहां कोरोना के 3 से अधिक मामले एक साथ पाए गए हैं.

दिल्ली में अब कुल 76 कोरोना कंटेनमेंट जोन है. इन इलाकों को दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस की मदद से पूरी तरह सील कर दिया है. किसी भी कोरोना कंटेनमेंट जोन या कोरोना हॉटस्पॉट में बाहर का कोई व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकता. इसी तरह इन कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोग भी इस इलाके से बाहर नहीं आ सकते. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कोरोना का संक्रमण इन क्षेत्रों से निकलकर अन्य इलाकों में न फैल सके.