देश की राजधानी दिल्ली में डेंगू  बढ़ता ही जारहा हैं। यहाँ अबतक इससे 20 लोग इससे अपनी जान गवा बैठे हैं। सरकार द्वारा कि जारही हर मुमकिन कोशिश विफल साबित हो रही है। इसबीच इस विषय पर अब सियासत भी शुरू होगई हैं। Also Read - New Restrictions in Delhi: दिल्ली में लगाई गईं नई पाबंदियां, जानिए क्या खुला रहेगा और क्या रहेगा बंद

Also Read - Coronavirus in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 7,897 नए मामले सामने आए, 39 रोगियों की मौत

यह भी पढ़े: केजरीवाल की दिल्ली में डेंगू से 16 लोगो की मौत Also Read - दिल्ली में फूटा कोरोना बम, 24 घंटें में अब तक सबसे ज्यादा 8,521 नए मामले सामने आए; 39 की मौत

बीजेपी द्वारा किये गए तीखे हमलो से तंग आकर आप सरकार के महिला और बाल विकास मंत्री संदीप कुमार ने कहा है कि डेंगू के बीच दिल्ली के सातों सांसद क्या हनीमून मना रहे हैं। इस विवादित बयान से दिल्ली का सियासी पारा और गर्माता नज़र आरहा है।

चिकित्सकों के हिसाब से 2,000 के लगभग लोग डेंगू से ग्रस्त है। केजरीवाल सरकार ने तीन बड़े अस्पतलो में 600 नए बिस्तर बढ़ाने का आदेश दिया है जिनमे जनकपुरी, अशोक विहार और ताहिरपुर इलाके शामिल है। वही डेंगू से बचने के लिए और राजधानी को डेंगू मुक्त बनाने के लिए  केजरीवाल ने चिट्ठी लिखकर विपक्ष से डेंगू के साथ मिलकर लड़ने के लिए कहा है वही दुसरी तरफ़ वैसी ही चिट्ठी केजरीवाल ने पीएम मोदी को भी लिखी है।

मरीज़ो की संख्या को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने पूरे दिल्ली में फीवर क्लीनिक स्थापित करने का निर्णय किया है ताकि मरीजों को मुफ्त इलाज मुहैया कराया जा सके। आने वाले समय में यह भी देखना होगा की बदलते मौसम के हिसाब से प्रशासन की व्यवस्था कितनी कारगर साबित होती है ।