नई दिल्ली: दिल्ली में शनिवार को कोरोना मरीजों के लिए बेड की दरें तय कर दी गई हैं. अब कोरोना मरीजों का इलाज करने वाले हर अस्पताल में मरीजों को एक तय दाम देना होगा. ये जानकारी दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दी. उन्होंने कहा कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कोरोना के मरीजों के लिए बेड की दरें तय करने की उच्च-स्तरीय विशेषज्ञ समिति की सिफारिशों को मंजूरी दी है. अब से अस्पातालों में आइसोलेशन बेड, ICU की वेंटिलेटर के बिना और साथ दरें 8000-10000, 13000-15000 और 15000-18000 रुपये क्रमश: तय की गई हैं. Also Read - Operation Samudra Setu: भारतीय नौसेना ने पूरा किया 'ऑपरेशन समुद्र सेतु', 3 देशों से 4000 भारतीयों की हुई वापसी

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कहा कि उच्च-स्तरीय विशेषज्ञ समिति द्वारा अनुमोदित दरें निजी अस्पतालों की कुल बेड क्षमता के अधिकतम 60% कोविड-19 बेड पर लागू होंगी. Also Read - विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने की अमेरिकी उप विदेशमंत्री से बात, हिंद-प्रशांत, कोविड-19 से निपटने को लेकर हुई चर्चा

बता दें कि इससे पहले दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा भारी विरोध किए जाने के बाद उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोरोना रोगियों को लेकर जारी किया गया अपना एक अहम फैसला वापस ले लिया. इस फैसले के अंतर्गत उपराज्यपाल ने सभी कोरोना रोगियों को कम से कम 5 दिन आइसोलेशन सेंटर में रखे जाने का आदेश दिया था. यह आदेश अब वापस ले लिया गया है. Also Read - दिल्ली में कोरोना के 2,008 नए मामले सामने आए, कुल संक्रमित संख्या 1,02,831 हुई; 3,165 की मौत

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने शनिवार शाम हुई डीडीएमए की बैठक में पांच दिन के संस्थागत क्वारंटाइन का फैसला वापस लिया. डीडीएमए की दोबारा हुई बैठक में भारी विरोध के बाद उपराज्यपाल ने अपना फैसला वापस लिया है.