Delhi DTC Bus Latest Updates: कोविड-19 मामलों में वृद्धि के बीच, दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने शनिवार को कहा कि यात्री एक नवंबर से सार्वजनिक परिवहन बसों की सभी सीटों पर यात्रा कर सकते हैं और सतर्क किया कि यात्रियों को फेस मास्क पहनना होगा और शारीरिक दूरी बनाए रखना होगा.Also Read - Jammu Kashmir: बर्फ से ढके पहाड़ों पर 7-8 घंटे पैदल चलकर लगाने जाते हैं कोरोना वैक्सीन, तस्वीरें देख स्वास्थ्यकर्मियों को करेंगे सलाम!

हालांकि, गहलोत ने कहा कि किसी भी यात्री को बस में खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. कोविड-19 महामारी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने मई में दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और क्लस्टर बसों में अधिकतम यात्रियों की संख्या 20 निर्धारित की थी. Also Read - कोरोना वायरस से संक्रमित हुए Harbhajan Singh, घर में ही किया गया क्‍वारंटीन

उपराज्यपाल अनिल बैजल, जो दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के अध्यक्ष भी हैं, ने हाल ही में दिल्ली सरकार के सार्वजनिक परिवहन बसों को पूरी क्षमता के साथ चलाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी. एक ट्वीट में गहलोत ने कहा कि बस यात्रियों को फेस मास्क पहनना होगा. उन्होंने लोगों से कोविड-19 खतरे के मद्देनजर उचित शारीरिक दूरी बनाए रखने की अपील की. Also Read - Revised Guidelines: कोरोना पर सरकार की संशोधित गाइडलाइंस- 5 साल से कम उम्र के बच्चों का मास्क लगाना जरूरी नहीं

गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘कल से यात्री बसों की सभी सीटों पर बैठ कर यात्रा कर सकते हैं. हालांकि किसी भी यात्री को खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी. मास्क पहनना अनिवार्य है और कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए मैं सभी यात्रियों से अपील करता हूँ.’’ गौरतलब है कि शहर में विभिन्न आर्थिक गतिविधियों और सरकारी और निजी प्रतिष्ठानों के खुलने के साथ, बसों में यात्रियों की संख्या सीमित होने के कारण लोगों को अक्सर भीड़-भाड़ वाले बस स्टैंडों पर लंबी कतारों में इंतजार करने के लिए मजबूर होना पड़ता है.

डीटीसी और क्लस्टर बसों में यात्रियों के लिए 40 सीटें होती हैं. डीटीसी द्वारा लगभग 3,800 बसों का परिचालन होता है और दिल्ली इंटीग्रेटेड मल्टी मॉडल ट्रांजिट सिस्टम की क्लस्टर योजना के तहत 2,600 से अधिक बसें चलती हैं. डीडीएमए अध्यक्ष ने अंतर-राज्यीय बस सेवा को फिर से शुरू करने के परिवहन विभाग के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है.

मार्च में लॉकडाउन लागू होने के बाद अंतर-राज्यीय बस सेवाओं को बंद कर दिया गया था, तब से आनंद विहार, सराय काले खाँ और कश्मीरी गेट अंतर-राज्यीय बस टर्मिनल बंद हैं. अधिकारियों ने कहा कि परिवहन विभाग अंतर राज्यीय बस सेवाओं को शुरू करने के लिए एक मानक संचालन प्रक्रिया तैयार कर रहा है. इसके अगले सप्ताह शुरू होने की उम्मीद है.

(इनपुट भाषा)