नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार को अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी की, जिसमें बॉलीवुड स्टार सनी देओल और पार्टी के लिए सबसे अधिक भीड़ जुटाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हैं. भाजपा के 40 स्टार प्रचारकों की सूची में मोदी के अलावा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जे.पी. नड्डा, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के महासचिव (संगठन) बी. एल. संतोष शामिल हैं. Also Read - जम्मू में जुटे ‘ग्रुप ऑफ 23’ के नेता, कांग्रेस बोली- चुनावी राज्यों में प्रचार कर अपनी पार्टी के प्रति निष्ठा दिखाएं

  Also Read - West Bengal Assembly Elections 2021 Opinion Poll: बंगाल में फिर एक बार ममता सरकार! लेकिन 3 से 100 पर पहुंच सकती है भाजपा; जानिए क्या है जनता का मूड

स्टार प्रचारकों में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी शामिल हैं, जो बांग्ला भाषा जानती हैं. पार्टी उनकी इस क्षमता का उपयोग कर सकती है. वह अपने अभियान के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में बंगाली समुदाय को आकर्षित करने की कोशिश करेंगी. वहीं संतोष के दक्षिणी मूल के होने का लाभ पार्टी को करोलबाग और मयूर विहार जैसे क्षेत्रों में मिलने की उम्मीद है, जहां दक्षिण भारतीयों की अच्छी-खासी आबादी है. इसी तरह दिल्ली भाजपा के प्रमुख व भोजपुरी अभिनेता मनोज तिवारी और रवि किशन बिहार व पूर्वी उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले मतदाताओं को लुभाने का प्रयास करेंगे.

बॉलीवुड स्टार सनी देओल व हेमामालिनी का नाम भी शामिल
साथ ही, पंजाब के गुरदासपुर से भाजपा सांसद सनी देओल और मथुरा से भाजपा की सांसद ‘ड्रीम गर्ल’ हेमा मालिनी को भी लोकप्रियता के आधार पर सूची में रखा गया है. इसके अलावा, पहाड़ी चेहरों में भाजपा के नए अध्यक्ष जे.पी. नड्डा, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और अनुराग ठाकुर मोर्चा संभालेंगे.

दिल्ली के सभी सात भाजपा सांसद अपने क्षेत्र में करेंगे व्यापक प्रचार
इस बीच दिल्ली के सभी सात भाजपा सांसद अपने लोकसभा क्षेत्र में आने वाले विधानसभा क्षेत्रों में व्यापक प्रचार करेंगे. उदाहरण के लिए तेजिंदर बग्गा का हरि नगर विधानसभा क्षेत्र प्रवेश सिंह के लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है, इसलिए इस इलाके में चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी उनकी भी होगी. हालांकि दिल्ली में भाजपा की राह आसान नहीं है. अभी तक सभी पोल ट्रैकर्स ने भाजपा के आम आदमी पार्टी (आप) से पीछे रहने की भविष्यवाणी की है.