नई दिल्ली: निर्वाचन आयोग ने सोमवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी. इसी के साथ आधिकारिक रूप से दिल्ली में चुनावी बिगुल बज गया है. दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा के लिए मतदान आठ फरवरी को होगा और मतगणना 11 फरवरी को होगी. इसके साथ ही दिल्ली में चुनावी आचार संहिता लागू हो गई है. गौरतलब है कि रविवार रात दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरु युनिवर्सिटी (JNU) में नकाबपोशों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया. इस हमले में कई छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए. Also Read - बिहार विधानसभा चुनाव कब है? तारीख कब आएगी? मुख्य चुनाव आयुक्त ने बतायी ये बात

इस घटना को मद्देनजर रखते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि स्थिति नियंत्रण में होगी. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि अगर स्थिति नियंत्रण से बाहर होती है तो चुनाव आयोग के पास चुनावों को स्थगित करने का अधिकार है. मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा, “हमें उम्मीद है कि स्थिति नियंत्रण में होगी और चुनाव के लिए अनुकूल होगी. यदि कोई असाधारण स्थिति होती है, तो हमेशा चुनावों को स्थगित करने का एक विकल्प होता है. संविधान ईसीआई को ये विकल्प चुनने का अधिकार देता है.” Also Read - दिल्ली विधानसभा चुनाव में हार पर संघ की नसीहत, हर बार मदद नहीं कर सकते मोदी और शाह


बता दें कि दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप), भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है. इसके पहले 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) को 70 में से 67 सीटें मिली थीं. भाजपा ने तीन सीटें जीती थीं और कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिल सकी थी. दिल्ली के 1.47 करोड़ मतदाता नई सरकार का चुनाव करेंगे.