नई दिल्ली: विधानसभा की 70 सीटों पर चुनाव होने के अगले दिन रविवार को दिल्ली कांग्रेस प्रमुख सुभाष चोपड़ा ने कहा कि एग्जिट पोल के अनुमान पर उन्हें भरोसा नहीं है, क्योंकि अनुमान कई बार गलत साबित हो चुका है. इसके विपरीत नतीजे आएंगे. मतदान के बाद मीडिया में दिखाए गए एग्जिट पोल के मुताबिक, दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) की सत्ता में वापसी के आसार हैं. एग्जिट पोल के कई नतीजों में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी को भी कुछ सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है.

चोपड़ा ने कहा कि हरियाणा और महाराष्ट्र में हुए चुनाव के बाद आए एग्जिट पोल के नतीजे गलत साबित हुए थे. इस बार दिल्ली में भी ऐसा ही होगा. उन्होंने भरोसा जताया कि 11 फरवरी को नतीजे कांग्रेस के पक्ष में आएंगे. दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मुझे यकीन है कि दिल्ली के लोग हमें अच्छे परिणाम देंगे. मैं जिन क्षेत्रों में गया, वहां मुझे और पार्टी को लोगों का बहुत प्यार मिला, इसलिए पूरे भरोसे के साथ कह सकता हूं कि अलग तरह के नतीजे आने वाले हैं. उन्होंने कहा कि मैं पार्टी हाईकमान का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझ पर विश्वास किया और बड़ी जिम्मेदारी सौंपी. मेरी जितनी काबिलीयत थी, उतना मैंने किया. चुनाव के दौरान मैंने 18 से 20 घंटे काम किया. सभी कार्यकर्ताओं ने भी एकजुट होकर काम किया.”

अरविंद केजरीवाल का चुनाव आयोग से सवाल- वोटिंग के 24 घंटे बाद भी आंकड़े क्यों नहीं किए जारी?

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें पहले से पता था कि वही अगले दिल्ली कांग्रेस प्रमुख होंगे, उन्होंने कहा कि ये किसी को भी पहले से पता नहीं होता. मैं पहली बार दिल्ली अध्यक्ष नहीं बना हूं, पहले भी बना हूं और साढ़े चार साल इस पद पर रह चुका हूं. शनिवार की शाम चुनाव खत्म होने के बाद से रविवार सुबह तक का समय कैसा बीता? इसके जवाब में उन्होंने कहा, “मैं अपने परिवार के साथ था. परिवार के सभी लोग खुश हैं कि मैंने अपनी ड्यूटी अच्छी तरह निभाई. मैं अपने काम से संतुष्ट हूं. सभी मतदाताओं और सहयोगियों का धन्यवाद करता हूं. सुबह जो मेरा रूटीन रहता है मॉर्निगवाक का, करीब 2 घंटे दौड़ लगाने का, उसमें कोई फर्क नहीं आया है. मुझे कोई टेंशन नहीं है, अब बस नतीजों का इंतजार है.