नयी दिल्ली: दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने रविवार को कहा कि अंतिम मतदान प्रतिशत के आंकड़ों की घोषणा में कोई असामान्य देरी नहीं हुई है, निर्वाचन अधिकारी इसकी सटीकता सुनिश्चित करने के लिए रात भर डेटा की जांच में जुटे थे. दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए शनिवार को मतदान हुआ था. Also Read - ममता बनर्जी का चुनाव आयोग से अनुरोध, 'केवल बीजेपी की ही नहीं, सभी की सुनें'; लगाया पक्षपात का आरोप

सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में विधानसभा चुनाव के अंतिम मतदान प्रतिशत के आंकड़ों की घोषणा में देरी को लेकर राजनीतिक पार्टियों के एक वर्ग की ओर से व्यक्त की गईं शंकाओं को दूर करने की कोशिश की और कहा कि वे अटकलें नहीं लगाना चाहते थे, बल्कि सटीक आंकड़े देना चाहते थे. उन्होंने कहा कि निर्वाचन अधिकारियों ने डेटा की सटीकता सुनिश्चित करने के लिए रात भर काम किया. सिंह ने कहा कि मतदान प्रतिशत का आंकड़ा घोषित करने में देरी असामान्य नहीं है बल्कि ठीक समय से बता दिया है. Also Read - भाजपा नेता राहुल सिन्हा ने दिया विवादित बयान, कहा- कूचबिहार में 4 की जगह 8 मरने चाहिए थे

अरविंद केजरीवाल का चुनाव आयोग से सवाल- वोटिंग के 24 घंटे बाद भी आंकड़े क्यों नहीं किए जारी? Also Read - West Bengal Polls: PM मोदी का ममता बनर्जी पर हमला, 'बंगाल में गवर्नेंस के नाम पर दीदी ने किया बड़ा गड़बड़झाला'

अरविंद केजरीवाल ने अंतिम मतदान प्रतिशत को लेकर उठाए थे सवाल
उन्होंने कहा कि यह देरी या जल्दी का मामला नहीं है. जैसे ही मतदान प्रतिशत को अंतिम रूप दिया गया, इसे जनता के साथ साझा किया गया. इससे पहले, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अंतिम मतदान प्रतिशत के ऐलान में देरी को ‘पूरी तरह चौंकाने वाला’ करार देते हुए रविवार को सवाल किया कि क्या चुनाव आयोग भाजपा कार्यालय की मंजूरी का इंतजार कर रहा था.