नई दिल्ली: वाद अधिकरण ने एक सड़क हादसे में जान गंवाने वाले 73 वर्षीय व्यक्ति के परिजनों को 23 लाख रुपये से अधिक की राशि प्रदान करने का आदेश दिया है. व्यक्ति की तेज रफ्तार एक मिनी बस की चपेट में आने से मौत हो गई थी. मोटर दुर्घटना वाद अधिकरण ( एमएसीटी ) की पीठासीन अधिकारी हिमानी मल्होत्रा ने वाहन का बीमा करने वाली नेशनल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को राम अवतार सिक्का की पत्नी और बेटी को 23,13,000 रूपया मुआवजा देने का निर्देश दिया. पश्चिमी दिल्ली में सड़क पार करते समय तेज रफ्तार से आ रहे वाहन ने 2015 में सिक्का को टक्कर मार दी थी.

हिमाचल प्रदेश में यात्रियों से भरी बस दर्रे में गिरी, 7 की मौत, कई घायल

अधिकरण ने याचिका पर विचार करते हुए एफआईआर, आरोप पत्र, पीड़ित के पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और दुर्घटना के एक प्रत्यक्षदर्शी के बयान पर पीड़ित के पक्ष में निर्णय देने का फैसला किया. अधिकरण ने यह भी उल्लेख किया कि अपराध में संलिप्त वाहन का चालक गवाह से जिरह करने या अपने बचाव में कोई महत्वपूर्ण साक्ष्य मुहैया नहीं करा सका.याचिका के मुताबिक 16 दिसंबर 2015 को सिक्का पश्चिम दिल्ली में पंखा रोड पार करने के लिए इंतजार कर रहा था उसी समय अचानक तेज रफ्तार में एक आरटीवी आयी और उसे टक्कर मार दी. हादसे के कारण इलाज के दौरान सिक्का की मौत हो गई.

सीतापुर में आदमखोर कुत्तों ने एक और मासूम को बनाया निवाला, आक्रोशित ग्रामीणों ने शव रखकर हाइवे किया जाम

तमिलनाडु में सड़क हादसा 5 की मौत
तमिलनाडु में तंजावुर के निकट रविवार को एक कार और एक लॉरी के बीच हुई टक्कर में पांच लोगों की मौत हो गई और दो घायल हो गए. पुलिस ने बताया कि यह हादसा उस समय हुआ जब कार में सवार लोग तिरूचेंदुर से वापस लौट रहे थे. उन्होंने बताया कि जब वाहन जिले में कीझवस्था चावडी में पट्टुकोटई रिंग रोड पर पहुंचा तभी चालक ने वाहन से अपना नियंत्रण खो दिया और कार एक खड़ी लॉरी से जा टकराई. उन्होंने बताया कि कार में सवार चार लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी जबकि एक अन्य ने अस्पताल के रास्ते में दम तोड़ दिया. गंभीर रूप से घायल दो लोगों को यहां के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस सिलसिले में एक मामला दर्ज किया गया है.