नई दिल्‍ली: दिल्‍ली विधानसभा चुनाव के चढ़ रहे सियासी माहौल के बीच आम आदमी पार्टी के कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है. आप ने सोमवार को कांग्रेस के चार नेताओं को अपने पाले में कर लिया.

दिल्‍ली के बदरपुर से विधायक रहे चुके राम सिंह, पूर्व कांग्रेस सांसद महाबल मिश्रा के बेटे विनय मिश्रा, जय भगवान और दीपू चौधरी ने मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए.

बता दें कि महाबल मिश्रा कांग्रेस के दिल्‍ली के दिग्‍गज नेताओं में माने जाते हैं. ऐन चुनावी वक्‍त में कांग्रेस के नेताओं का दूसरी दलों में जाना पार्टी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है.

उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया और राज्‍यसभा सांसद संजय सिंह ने राम सिंह, पूर्व कांग्रेस सांसद के बेटे विनय मिश्रा, जय भगवान और दीपू चौधरी को पार्टी की सदस्‍यता दिलवाकर शामिल कराया.

14 जनवरी से पहले सूची आने की उम्मीद
दिल्ली विधानसभा चुनावों में अब सिर्फ कुछ हफ्तों का समय रह गया है ऐसे में मुख्य दावेदार- आप, भाजपा और कांग्रेस- संभावित उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप देने में लगे हुए हैं और उम्मीद है कि इस हफ्ते उम्मीदवारों के नामों की सूची आनी शुरू हो जाएगी. सत्तारूढ़ दल के अपने उम्मीदवारों की पहली सूची 14 जनवरी से पहले जारी करने की उम्मीद है, वहीं भगवा दल 18 जनवरी तक अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर सकता है. कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची भी 14 जनवरी से पहले जारी हो जाने की उम्मीद है.

अधिकतर पुराने चेहरे उतार सकती है आप
बता दें कि आम आदमी पार्टी ने 2015 में हुए विधानसभा चुनावों में शानदार प्रदर्शन करते हुए प्रदेश की 70 में से 67 सीटों पर जीत हासिल की थी, ऐसे में उम्मीद है कि वह पिछला चुनाव लड़े अपने अधिकतर उम्मीदवारों को फिर मैदान में उतार सकती है. सूत्रों ने हालांकि कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी की तरफ से खड़े हुए कुछ उम्मीदवारों को भी आगामी चुनावों में टिकट दिया जा सकता है. इनमें पार्टी प्रवक्ता आतिशी और राघव चड्ढा शामिल हैं.

आप अपनाएगी तीन सी का फॉर्मूला
पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा था, पार्टी ‘तीन-सी’ का पैमाना अपनाएगी. इसके तहत उम्मीदवारों के चयन में भ्रष्टाचार (करप्शन) नहीं, आपराधिक (क्रिमिनल) रिकॉर्ड नहीं होने और (अच्छे) चरित्र को पैमाना माना जाएगा.”

दो सीटों से चुनाव लड़ने की बात केजरीवाल ने खारिज की
सूत्रों ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के फिर से नई दिल्ली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की उम्मीद है, जबकि उन्होंने इन खबरों को खारिज किया कि आप के राष्ट्रीय संयोजक दो सीटों से चुनाव लड़ सकते हैं. आप के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक पार्टी के 14 जनवरी से पहले पार्टी उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने की उम्मीद है.