नयी दिल्ली: दिल्ली सरकार ने बुधवार को राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी), राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (एनपीआर) के मुद्दे और कोरोना वायरस की स्थिति पर चर्चा के लिए 13 मार्च को विधानसभा का एक-दिवसीय विशेष सत्र बुलाने का फैसला किया. एक अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया. Also Read - EMI रोकने के बहाने फ्रॉड कर रहे हैं साइबर अपराधी, SBI ने ग्राहकों को चेताया

उन्होंने बताया कि विधायक विशेष सत्र में एनआरसी को देशभर में लागू करने के प्रस्ताव, एनपीआर और कोरोना वायरस की स्थिति पर चर्चा करेंगे. सत्र के हंगामेदार होने की संभावना है क्योंकि सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के विधायक एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ एक प्रस्ताव ला सकते हैं. उत्तरपूर्वी दिल्ली में पिछले महीने हुए सांप्रदायिक दंगों को लेकर भाजपा और आप विधायक एक-दूसरे पर निशाना साध सकते हैं, जिसमें कम से कम 53 लोगों की जान चुकी है और 200 से अधिक लोग घायल हुए हैं. Also Read - प्यार वो ज़हर है जिसे हर हाल में पिया जा सकता है, उर्वशी की ये तस्वीर आखिर क्या कहना चाहती है

दिल्ली विधानसभा का यह पहला विशेष सत्र
अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आप के पिछले महीने लगातार तीसरी बार सत्ता में लौटने के बाद दिल्ली विधानसभा का यह पहला विशेष सत्र है. आप के एक पदाधिकारी ने बताया कि विधायक कोरोना वायरस की स्थिति और संक्रमण से निपटने के लिए सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों पर भी चर्चा करेंगे. Also Read - अंबेडकर जयंती के मौके पर केंद्र सरकार ने की 14 अप्रैल को छुट्टी की घोषणा