नई दिल्ली। दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब स्तर तक पहुंचने के बाद सरकार हरकत में आई है. जहरीली हवा से शहर में जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित होता देख सरकार कई एहतियाती कदम उठाने जा रहे हैं. इसी क्रम में दिल्ली सरकार ने एक बार फिर से ऑड ईवन फॉर्मूला अपनाने का फैसला लिया है. इस बार 13 से 17 नवंबर तक ऑड ईवन फॉर्मूला लागू किया जाएगा. इसके नियम वैसे ही होंगे जैसे पिछली बार थे.Also Read - Weather Alert: ओडिसा और आंध्र प्रदेश के कई शहरों में तबाही मचा सकता है Cyclone 'Jawad'

ऑड-ईवन: नंबर के हिसाब से चलेंगी कारें
-सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को सड़कों पर ऑड नंबर वाली कारें चलेंगी जिनके आखिर में 1,3,5,7,9 नंबर हैं.
-मंगलवार और गुरुवार वो गाड़ियां चलेंगी जिनके आखिर में 2,4,6,8,0 नंबर हैं.
-ऑड-ईवन सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक लागू रहेगा.
-इस बार ऑटो और टैक्सी को भी ऑड-ईवन के दायरे में रखा गया है.
-दोपहिया गाड़ियों को छूट दी गई है. Also Read - 'सेंट्रल विस्टा परियोजना राष्ट्रीय महत्व की है', केन्द्र सरकार बोली- प्रदूषण रोकने के वास्ते किए गए सभी उपाय

उपराज्यपाल ने दिया सड़कों पर जल छिड़काव का आदेश
दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने गुरुवार को मौसम के गंभीर हालातों को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों पर तुरंत जल छिड़काव शुरू करने के आदेश जारी किए. उन्होंने यह आदेश दिल्ली के बीजेपी विधायकों ओम प्रकाश शर्मा, जगदीश प्रधान और अकाली नेता मनजिंदर सिंह सिरसा पर आधारित प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद दिए. Also Read - Delhi School Closed: दिल्ली में कल से फिर बंद हो रहे स्कूल, पर्यावरण मंत्री ने दिया आदेश

विधायकों ने उपराज्यपाल को बताया कि दिल्ली की जहरीली हवा ने शहर में जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है. इस हालात के कारण न सिर्फ देश की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बदनामी हुई है, बल्कि इस के साथ शहर में सैर सपाटा भी प्रभावित हुआ है.

वायु प्रदूषण से बचाव के लिए टीम गठित
दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब स्तर तक पहुंचने के बाद, केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने गुरुवार को कम और लंबे समय तक वायु प्रदुषण से लड़ने के लिए सात सदस्यीय टीम गठित की है. पर्यावरण सचिव सी. के. मिश्रा की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट द्वारा पर्यावरण प्रदूषण रोकथाम और नियंत्रण (ईपीसीए) के चेयरमैन भूरे लाल व सदस्य सुनीता नारायण और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अधिकारियों के साथ केंद्रीय मंत्रालय में बैठक हुई. 

Odd Even policy to be implemented in Delhi from November 13th to 17th: Sources | दिल्ली में फिर लौटा ऑड-ईवन, 5 दिन के लिए होगा लागू   

Odd Even policy to be implemented in Delhi from November 13th to 17th: Sources | दिल्ली में फिर लौटा ऑड-ईवन, 5 दिन के लिए होगा लागू  

सात सदस्यीय समिति की आगवानी पर्यावरण सचिव मिश्रा करेंगे. इसमें विज्ञान व प्रोद्यौगिकी सचिव प्रोफेसर आशुतोष शर्मा, बायोटेक्नोलॉजी विभाग के सचिव प्रोफेसर के. विजय राघवन, सीपीसीबी के चेयरमैन एस.पी. सिंह परिहार, दिल्ली के मुख्य सचिव एम.एम. कुट्टी शामिल हैं. इसके अलावा नीति आयोग के अतिरिक्त सचिव और विधि केंद्र के प्रतिनिधि भी इस टीम का हिस्सा होंगे.

पर्यावरण मंत्रालय के बयान के अनुसार कि टीम के सदस्य इस संबंध में योजना बनाने के लिए कुछ अंतरालों पर लगातार मिला करेंगे. मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यह निर्णय संबंधित राज्य सरकारों द्वारा श्रेणीबद्ध प्रतिक्रिया कार्य योजना (जीआरएपी) को पूरी तरह लागू करने के आग्रह के बाद लिया गया है, जिसमें सड़क व निर्माण कार्य पर रोक, कूड़ा जलाना पर रोक, पॉवर प्लांट और ओद्यौगिक प्रदूषण पर रोक, वाहनों के दिल्ली आने पर रोक संबंधी अन्य उपायों पर चर्चा की गई.

आईएएनएस इनपुट