नई दिल्ली: दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने मंगलवार को विधानसभा में वित्त वर्ष 2019-20 के लिये 60 हजार करोड़ रुपये का बजट पेश किया. राज्य सरकार ने दावा किया कि यह बजट 2014-15 में पेश बजट का दो गुणा है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बजट को पुलवामा आतंकवादी हमले में शहीद हुए जवानों को समर्पित किया. Also Read - Covid-19: सीएम केजरीवाल ने लॉन्च किया मोबाइल ऐप, अब एक क्लिक में पाएं अस्पतालों की जानकारी

Also Read - दिल्ली के सभी बॉर्डर सील, एंट्री के लिए आपके पास होना चाहिए यह पास

  Also Read - CM अरविंद केजरीवाल ने मांगे सुझाव- क्या दिल्ली के अस्पतालों में केवल दिल्ली वालों के लिए रिजर्व हों बेड? हां, या नहीं

दिल्ली विधानसभा के सत्र की शुरुआत मंगलवार तड़के पाकिस्तानी इलाके में घुसकर आतंकवादी शिविरों पर हमला करने वाले वायु सेना के जवानों को सलामी देने के साथ शुरू हुई. सिसोदिया ने कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 के लिये अनुमानित 60 हजार करोड़ रुपये का बजट पेश किया गया है जो 2014-15 के बजट की तुलना में दो गुणा है. वित्त वर्ष 2018-19 के लिये 53 हजार करोड़ रुपये का बजट पेश किया गया था. इस बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायकों को सदन में मोदी-मोदी नारा लगाने के कारण मार्शलों की मदद से बाहर निकाल दिया गया.

अरविंद केजरीवाल नहीं लड़ेंगे अगला लोकसभा चुनाव, मोदी के खिलाफ दूसरे नेता को उतारने तैयारी

भाजपा के विधायक को सदन से बाहर निकाला

विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने कहा कि भाजपा के विधायक वायु सेना के जवानों की सराहना करने के बजाय सदन में मोदी-मोदी का नारा लगा रहे थे. भाजपा विधायकों ने आरोप लगाया कि उन्हें वायु सेना के जवानों की तारीफ करने का समय नहीं दिया गया. उल्लेखनीय है कि पुलवामा आतंकवादी हमले के 12 दिन बाद मंगलवार तड़के भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में कई जगहों पर हवाई हमला कर आतंकवादी शिविरों को निशाना बनाया.

बजट में शिक्षा क्षेत्र को किया 15 हजार करोड़ रुपये का आवंटन

दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने वित्त वर्ष 2019-20 के बजट में शिक्षा क्षेत्र को 15 हजार करोड़ रुपये से अधिक राशि आवंटित की है. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बजट संबोधन में कहा कि शिक्षा क्षेत्र को कुल बजट का करीब 26 प्रतिशत आवंटित किया गया है. उन्होंने कहा कि पिछले सालों में शिक्षा क्षेत्र को बजट आवंटन करीब कुल बजट का 24-25 प्रतिशत हुआ करता था. बजट में घोषित विभिन्न मुहिमों में उद्यमिता योजनाओं के लिये आवंटन, पारिवारिक व्यवसाय के पाठ्यक्रम की शुरुआत, शिक्षक प्रशिक्षण विश्वविद्यालय की स्थापना और एक अप्लायड साइंस विश्वविद्यालय का निर्माण शामिल है.

डिजिटल शिक्षा योजना की होगी शुरुआत

सिसोदिया ने कहा कि डिजिटल शिक्षा योजना की शुरुआत की जाएगी, जिसमें विद्यार्थियों को टैबलेट दिये जाएंगे. इसके लिये करीब नौ करोड़ रुपये का आवंटन हुआ है. दसवीं में 80 प्रतिशत से अधिक अंक पाने वाले विद्यार्थियों को टैबलेट दिये जाएंगे. आम आदमी पार्टी सरकार ने नये वित्त वर्ष के लिये कुल 60 हजार करोड़ रुपये का बजट पेश किया है. (इनपुट एजेंसी)