नई दिल्ली: दुष्कर्म पीड़ित एम्स में भर्ती 12 वर्षीय बच्ची के परिजनों को दिल्ली सरकार ने 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी है. बुरी तरह से जख्मी यह बच्ची अभी भी न्यूरो सर्जरी वार्ड में है और यहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है. आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने शनिवार को दुष्कर्म पीड़ित बच्ची के स्वास्थ्य की जानकारी ली. इस दौरान आतिशी ने बच्ची के परिजनों से मुलाकात की और उन्हें दिल्ली सरकार की ओर से 10 लाख रुपए की सहायता राशि का चेक सौंपा. Also Read - School Reopen News Unlock 5.0: दिल्ली में 5 अक्टूबर के बाद खुलेंगे स्कूल! सरकार ले सकती है फैसला

विधायक आतिशी ने कहा, “हम उसके जल्द से जल्द ठीक होने की प्रार्थना करते हैं. कोई हैवान ही होगा, जो आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली 12 साल की इस मासूम बच्ची के साथ इतनी अमानवीय और हैवानियत भरी घटना को अंजाम दे सकता है.” Also Read - SSR Case: AIIMS ने CBI को दिया अपना मेडिकोलीगल ओपिनियन, मीडिया की अटकलों की पुष्टि नहीं

एम्स अस्पताल में भर्ती 12 साल की मासूम बच्ची के परिवार से मिलने के बाद आतिशी ने कहा, “परिवार बेहद दुख और परेशानी में डूबा हुआ है. मैंने बच्ची के परिजनों से बात की और उनको बताया है कि दिल्ली सरकार हर तरह से आपके साथ खड़ी है. हम अच्छे से अच्छा वकील उनको मुहैया कराएंगे और हमारी पूरी कोशिश रहेगी कि जल्द से जल्द और कड़ी से कड़ी सजा उन दरिंदों को मिले.” Also Read - AIIMS पैनल ने CBI को सौंपी रिपोर्ट, सुशांत पक्ष के वकील ने कहा- गला घोंटकर की गई हत्या

गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी बच्ची की हालत का जायजा लेने और परिजनों से मुलाकात करने एम्स अस्पताल पहुंचे थे. यहां मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परिवार को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का एलान किया था. मुख्यमंत्री के वादे के अनुसार अब परिजनों को 10 लाख रुपए की सहायता राशि का चेक सौंप दिया गया है.

पीड़ित बच्ची के परिजनों को आर्थिक सहायता देने के उपरांत आतिशी ने कहा, “यह राशि उनके साथ जो घटना घटित हुई है, किसी भी प्रकार से उसकी भरपाई नहीं कर सकती है. परंतु हमारा यह मानना है कि इलाज और सामान्य जीवन की अन्य जरूरतों को पूरा करने में यह राशि सहायक सिद्ध होगी. हमारी कामना है कि जल्द से जल्द वह बच्ची ठीक होकर अपने माता-पिता और अपने परिवार में वापस पहुंचे.”