नई दिल्ली: लंबे लॉकडाउन(Lockdown) के बाद दिल्ली सरकार आर्थिक हालातों को फिर से मजबूत करने में जुटी हुई है. पहले सरकार ने शराब की दुकानों से पाबंदी हटाई जिससे सरकार को आमदनी हो सके. अब केजरीवाल सरकार ने एक और बड़ा कदम उठाया है ताकि बंद पड़े काम को गति मिल सके. दिल्ली में कंस्ट्रक्श के क्षेत्र में लगे कामगारों का रजिस्ट्रेश फिर से शुरू होने जा रहा है. राजधानी में 15 मई 2020 से कंस्ट्रक्शन वर्कर्स का पंजीकरण शुरू किया जाएगा. इस बात की जानकारी मंत्रीAlso Read - Omicron Update: दिल्‍ली के LNJP में भर्ती 12 विदेशियों की सेहत से जुड़ा ताजा अपडेट

सरकार लगातार प्रवासी कामगारों को रोकने की कोशिश कर रही है. सरकार के लिए यह एक बड़ा प्रश्न है कि यदि सभी प्रवासी मजदूर वापस चले गए तो बंद पड़े काम को कैसे शुरू किया जाएगा. इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार फिर से वर्कर्स का पंजीकरण शुरू करके जल्द से जल्द बंद पड़े काम को शुरू करना चाह रही है और इसी के साथ मजदूरों की कमाई का जरिया भी शुरू करना चाहती है Also Read - Omicron in India: क्या दिल्ली भी पहुंच गया है खतरनाक वेरिएंट Omicron! LNJP में भर्ती हैं कई मरीज

Also Read - Omicron Variant: दक्षिण अफ्रीका में बढ़ रही है ओमिक्रॉन संक्रमितों की संख्या, पिछले 24 घंटे में मिले 11,000 मरीज; लगाया गया लॉकडाउन

सरकार ने मजदूरों की कमाई पर भी विशेष ध्यान रखा है. सरकार ने कंस्ट्रक्शन वर्कर्स को इस महीने भी 5000 रुपये देने का फैसला लिया है. गोपाल राय ने बताया कि वर्कर्स को पांच हजार रुपये देने का फैसला सरकार ने पिछले महीने के लिए किया था लेकिन इस महीने भी लॉकडाउन रहा है तो सरकार नहीं चाहती कि उनकी कमाई में कोई दिक्कत आए और मजदूर भाइयों को जीवन जीने में कोई परेशानी का सामना करना पड़े इसलिए इस महीने भी उन्हें 5000 रुपये दिए जाएंगे.

गोपाल राय ने कहा कि जिन लोगों का रजिस्ट्रेशन समाप्त हो गया है वे लोग अपना रजिस्ट्रेशन रेन्यू कराना पड़ेगा. जबकि नए कामगारों को 15 मई से रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. उन्होंने बताया कि 15 मई से वेबसाइट का लिक अपडेट हो जाएगा. रजिस्ट्रेशन के बाद ही वैरिफेकेशन करके वर्कर्स के खाते में पैसे जमा कर दिए जाएंगे. 25 मई तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किए जाएंगे.