नई दिल्ली: दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी में स्वास्थ्य संस्थानों की सहायता के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में रोगी ‘कल्याण समिति’ और राज्य द्वारा संचालित दवाखानों, पॉली क्लीनिक और मोहल्ला क्लीनिकों में ‘जन स्वास्थ्य समिति’ की स्थापना करेगा.Also Read - ISI Terror Module: ओसामा के चाचा ने प्रयागराज में सरेंडर किया, देश में पूरे आतंकी नेटवर्क को को-ऑर्डिनेट कर रहा था

Also Read - Terror Module: महाराष्‍ट्र ATS- मुंबई पुलिस ने आतंकी मॉड्यूल से जुड़े एक व्‍यक्ति को मुंबई में हिरासत में लिया

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की ओर से 26 अप्रैल को जारी आदेश के अनुसार ‘एसेंबली रोगी कल्याण समिति ’ की भूमिका सलाहकार की होगी जो स्वास्थ्य सुविधाओं, विकास आदि में रणनीतियों को विकसित एवं अनुकूलित करेगा जबकि ‘जन स्वास्थ्य समिति ’ को उप समिति की तौर पर स्थापित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि ‘रोगी कल्याण समिति’ और ‘जन स्वास्थ्य समिति ’ को सहायता के तौर पर प्रति वर्ष तीन लाख रुपए दिए जाएंगे. Also Read - Delhi: कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे SAD नेता हिरासत में, संसद मार्ग पुलिस स्टेशन ले जाए गए

‘लव जेहाद’ पर बनी फिल्म की स्क्रीनिंग पर JNU में बवाल, छात्रों के दो गुट भिड़े

आदेश में कहा गया कि जन स्वास्थ्य समितियां दिल्ली सरकार के दवाखानों, पॉली क्लीनिक, आम आदमी मोहल्ला क्लीनिक और प्राथमिक शहरी स्वास्थ्य केंद्र के अधीन स्थापति की जाएंगी. विभाग ने कहा कि एसेंबली रोगी कल्याण समितियों को विधानसभा क्षेत्र – स्तर पर सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के तहत पंजीकृत किया जाएगा और वे रोगी कल्याण समिति ( जिला ) के लिए अनुमोदित उप- कानूनों का पालन करेंगी. (इनपुट-भाषा)