#Delhi #NightCurfew Latest News: नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्‍ली की सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट को गुरुवार को बताया कि वह कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में रात में कर्फ्यू लगाने के संबंध में तीन से चार दिन में फैसला कर सकती है, लेकिन अभी तक ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है. अदालत ने सवाल किया था कि क्या दिल्ली सरकार रात में कर्फ्यू लागू करेगी.Also Read - एक्सीडेंटल गाड़ियों के नंबर को चोरी की कार पर लगाकर बेचते थे, पुलिस ने पकड़ा जब गिरोह तो हुए चौंकाने वाले और भी खुलासे

अदालत ने सवाल किया था कि क्या दिल्ली सरकार रात में कर्फ्यू लागू करेगी. इस पर दिल्ली सरकार ने कहा, ”हम रात्रि कर्फ्यू लगाने के बारे में सक्रियता से विचार कर रहे हैं. इस पर अभी कोई फैसला नहीं किया गया है.” Also Read - इस वीकएंड घूमिये दिल्ली की ये मार्केट और करिये जमकर शॉपिंग, यहां सस्ते मिलते हैं कपड़े

अदालत ने पूछा कि यह फैसला कितनी जल्दी लिया जाएगा. दिल्‍ली सरकार ने कहा, ”सक्रियता से विचार कर रहे हैं? क्या आप उतनी सक्रियता से विचार कर रहे हैं, जितना कोविड-19 सक्रिय है?” दिल्ली सरकार के वकील ने उत्तर दिया, ”संभवत: तीन से चार दिन में फैसला किया जाएगा.” Also Read - त्यागराज स्टेडियम में 'डॉग वॉक' को लेकर IAS संजीव खिरवार पर बड़ी कार्रवाई, दिल्ली से लद्दाख हुआ ट्रांसफर

बता दें कि केंद्र ने 25 नवंबर को जारी ताजा दिशा निर्देशों में रात्रि कर्फ्यू लगाने की मंजूरी दे दी है. देश के कुछ राज्यों में रात्रि कर्फ्यू लागू किया गया है.

दिल्ली सरकार की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील संदीप सेठी ने अतिरिक्त स्थायी वकील सत्यकाम के साथ मिलकर न्यायमूर्ति हिमा कोहली और न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद की पीठ के समक्ष यह अभ्यावेदन दिया.

अदालत दिल्ली में कोविड-19 संबंधी जांच बढ़ाने और जल्दी परिणाम देने के संबंध में वकील राकेश मल्होत्रा की जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी. केंद्र सरकार ने सुनवाई के दौरान कहा कि उसके ताजा दिशानिर्देशानुसार राज्य एवं केंद्रशासित प्रदेश स्थिति के आकलन के बाद स्थानीय प्रतिबंध लागू कर सकते हैं, जिनमें रात में कर्फ्यू लागू करना शामिल है.

केंद्र सरकार के स्थायी वकील अनुराग अहलूवालिया ने कहा कि हालांकि निरुद्ध क्षेत्रों के बाहर लॉकडाउन लगाने के लिए राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को केंद्र की अनुमति लेनी होगी.