नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्‍ली में प्रदूषण को लेकर राज्‍य सरकार सख्‍त है. दिल्‍ली में दिवाली के मद्देनजर 3 नवंबर से पटाखा विरोधी अभियान की जाएगी, ताकि बढ़ते प्रदूषण पर नियंत्रण पाया जा सके. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बुधवार को कहा कि दिवाली पर्व के मद्देनजर दिल्ली सरकार तीन नवंर से पटाखे विरोधी अभियान शुरू करेगी.Also Read - Omicron in India: दिल्ली के लोक नायक अस्पताल में होगा Omicron संक्रमितों का इलाज

पर्यावरण मंत्री राय ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर स्थिति की गंभीरता पर विचार करते हुए लोगों से पटाखे नहीं जलाने का आग्रह किया है. मंत्री ने इससे पहले विपक्षी विधायकों और सांसदों को इस अभियान में शामिल होने का न्योता
दिया था. Also Read - Paytm Transit Card: पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने लॉन्च किया पेटीएम ट्रांजिट कार्ड, अब एक कार्ड से ही होंगे सारे काम

सिर्फ ग्रीन पटाखे ही बनाए और बेचे जा सकेंगे
मंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के 2018 में आये आदेश के अनुसार इस दिवाली पर सिर्फ ‘हरित’ पटाखे ही बनाए, बेचे और इस्तेमाल किये जा सकेंगे. मंत्री ने कहा कि पटाखों और पराली जलाने से निकलने वाला धुआं हर साल दिल्ली की हवा को खतरनाक बना देता है. Also Read - Delhi Fire: साउथ दिल्‍ली में कबाड़ के गोदामों और झोंपड़ियों में आग लगी, 20 दमकल मशीनें मौके पर

11 विशेष दस्‍ते पटाखा निर्माण इकाइयों का निरीक्षण करेंगे
दिल्ली के पर्यावरण मंत्री ने कहा, ”सरकार तीन नवम्बर से पटाखा विरोधी अभियान शुरू करेगी. इसके तहत दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति और शहर पुलिस के 11 विशेष दस्ते पटाखा निर्माण इकाइयों का निरीक्षण करेंगे, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कोई पुराना स्टॉक तो नहीं बचा है.” राय ने कहा, ‘‘वास्तव में, मैं दिल्ली के लोगों से ‘पटाखे नहीं’ अभियान शुरू करने की अपील करता हूं. उन्हें कोविड-19 महामारी के मद्देनजर स्थिति की गंभीरता पर विचार करते हुए पटाखों को नहीं जलाना चाहिए.’’

प्रत्येक नागरिक को 5 लोगों को प्रोत्साहित करना चाहिए
मंत्री गोपाल राय ने बुधवार को कहा कि दिल्ली के प्रत्येक नागरिक को दिल्ली सरकार के वाहन प्रदूषण-निरोधक अभियान में शामिल होने के लिए पांच लोगों को प्रोत्साहित करना चाहिए.मंत्री राय ने कहा, ”मैं दिल्ली के हर नागरिक से अपील करता हूं कि वह पांच लोगों को वाहनों से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए चलाए गए इस अभियान में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करे.”

सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’
मंत्री ने कहा कि ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान में राष्ट्रीय राजधानी के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों को शामिल किया गया है. दो नवंबर तक यह शहर के सभी 272 वार्डों तक पहुंच जाएगा.राय ने कहा कि ट्रैफिक सिग्नल पर इंतजार करते समय वाहनों का इंजन बंद करने से वाहनों से होने वाले प्रदूषण में 15-20 फीसदी की कमी आ सकती है.

प्रदूषण से कोविड-19 से मौत के मामले बढ़ सकते हैं : आईसीएमआर
यूरोप और अमेरिका में शोध से पता चला है कि अधिक समय तक वायु प्रदूषण का सामना करने से कोविड-19 के कारण मौत के मामले बढ़ सकते हैं. आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव मंगलवार को बताया था कि अध्ययन में पता चला है कि ”वायरस के कण पीएम 2.5 पार्टिकुलेट मैटर के साथ हवा में रहते हैं लेकिन वे सक्रिय वायरस नहीं हैं.”