नई दिल्ली: निजी कोविड-19 अस्पताल के आईसीयू में भर्ती दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के लिए उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधा सुनिश्चित करने के लिए कुछ सरकारी एवं निजी अस्पतालों के वरिष्ठ चिकित्सकों की एक टीम को तैयार रखा गया है. सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने कहा कि 55 वर्षीय जैन की हालत में सुधार हो रहा है और डॉक्टर उनकी स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं. सूत्रों ने बताया कि जैन को साकेत के मैक्स अस्पताल में शनिवार को प्लाज्मा थेरेपी दी गई थी और उनकी स्थिति अब स्थिर है.Also Read - Haryana में छूट के साथ 10 फरवरी तक बढ़ाई गईं कोरोना पाबंदियां, अब इस समय तक खुल सकेंगी दुकानें

उन्होंने पीटीआई-भाषा को बताया कि कुछ सरकारी एवं निजी अस्पतालों के डॉक्टरों की एक टीम को उनका ध्यान रख रहे डॉक्टरों की मदद के लिए तैयार रखा गया है. सूत्रों ने बताया कि अतिरिक्त टीम में राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल (आरजीएसएसएच) , मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और अन्य प्रमुख निजी अस्पताल के डॉक्टर शामिल हैं. जैन की स्थिति बिगड़ने के बाद उन्हें आरजीएसएसएच से मैक्स अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. आरजीएसएसएच एक निर्दिष्ट कोविड-19 अस्पताल है लेकिन उसके पास प्लाज्मा थेरेपी करने की अनुमति नहीं है. Also Read - Maharashtra News: महाराष्ट्र में कब खुलेंगे पर्यटन स्थल? मंत्री आदित्य ठाकरे ने दिया बड़ा अपडेट

शहर के सरकारी अस्पताल के एक सूत्र ने कहा, उनकी स्थिति बिगड़नी के बाद हमने प्लाज्मा थेरेपी के लिए उन्हें मैक्स अस्पताल में भेजने से पहले सारी औपचारिकताएं पूरी कीं. आरजीएसएसएच अस्पताल के चिकित्सकों ने बृहस्पितवार को कहा कि मंत्री को निमोनिया हुआ है और उनका ऑक्सीजन का स्तर भी घट गया है जिसके बाद अस्प्ताल के अधिकारियों को उन्हें आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा. वह 17 जून को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे. Also Read - UP Election 2022: अमित शाह की जाट नेताओं से मीटिंग, BJP सांसद के प्रस्‍ताव पर जयंत चौधरी ने दिया जवाब