नई दिल्ली: निजी कोविड-19 अस्पताल के आईसीयू में भर्ती दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के लिए उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधा सुनिश्चित करने के लिए कुछ सरकारी एवं निजी अस्पतालों के वरिष्ठ चिकित्सकों की एक टीम को तैयार रखा गया है. सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने कहा कि 55 वर्षीय जैन की हालत में सुधार हो रहा है और डॉक्टर उनकी स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं. सूत्रों ने बताया कि जैन को साकेत के मैक्स अस्पताल में शनिवार को प्लाज्मा थेरेपी दी गई थी और उनकी स्थिति अब स्थिर है. Also Read - ENG vs WI, 1st Test: 143 साल के क्रिकेट इतिहास में पहली पर होगा बिना दर्शकों के टेस्‍ट

उन्होंने पीटीआई-भाषा को बताया कि कुछ सरकारी एवं निजी अस्पतालों के डॉक्टरों की एक टीम को उनका ध्यान रख रहे डॉक्टरों की मदद के लिए तैयार रखा गया है. सूत्रों ने बताया कि अतिरिक्त टीम में राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल (आरजीएसएसएच) , मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और अन्य प्रमुख निजी अस्पताल के डॉक्टर शामिल हैं. जैन की स्थिति बिगड़ने के बाद उन्हें आरजीएसएसएच से मैक्स अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. आरजीएसएसएच एक निर्दिष्ट कोविड-19 अस्पताल है लेकिन उसके पास प्लाज्मा थेरेपी करने की अनुमति नहीं है. Also Read - IPL 2020 का दूसरे देश में होना लगभग तय, BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली के इस बयान से हुआ साफ

शहर के सरकारी अस्पताल के एक सूत्र ने कहा, उनकी स्थिति बिगड़नी के बाद हमने प्लाज्मा थेरेपी के लिए उन्हें मैक्स अस्पताल में भेजने से पहले सारी औपचारिकताएं पूरी कीं. आरजीएसएसएच अस्पताल के चिकित्सकों ने बृहस्पितवार को कहा कि मंत्री को निमोनिया हुआ है और उनका ऑक्सीजन का स्तर भी घट गया है जिसके बाद अस्प्ताल के अधिकारियों को उन्हें आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा. वह 17 जून को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे. Also Read - Coronavirus In India Update: देश में संक्रमितों की संख्या 7 लाख के पार, कुल 20 हजार से अधिक लोगों की मौत