नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की सरकार में मंत्री रह चुके एमएलए कपिल मिश्रा अब सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ हाईकोर्ट में सैलरी कटवाने और विधानसभा में कम मौजूदगी को लेकर याचिका दायर कर सकेंगे. बता दें कि आप एमएलए मिश्रा ने केजरीवाल की विधानसभा में कम उपस्थिति को आधार बनाते हुए सीएम के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट से याचिका दायर करने की अनुमति मांगी थी.

हाईकोर्ट ने सोमवार को मिश्रा को इस याचिका को दायर करने की अनुमति दे दी. अब मंगलवार यानि 12 जून को इस मामले को लेकर सुनवाई हो सकती है. बता दे कि अपने ही पार्टी के सीएम खिलाफ किसी विधायक की ओर से ये पहली बार दायर की गई रिट है.

एमएलए मिश्रा ने ने कहा कि हाईकोर्ट दिल्ली विधानसभा के सत्र में सीएम को उपस्थित रहने के लिए निर्देश देना चाहिए. ये दिशा निर्देश लेफ्टिनेंट गवर्नर और विधानसभा के स्पीकर को भी दिया जाना कि वे ये सुनिश्चित करें कि सीएम सत्र में मौजूद हो रहे हैं.

विधायक मिश्रा ने कहा कि विधानसभा में सीएम की उपस्थिति 10 फीसदी से भी कम है और वह पूरी तरह से पूर्णराज्य और सीलिंग के मुद्दे पर बुलाए गए विशेष सत्र से गायब रहे. वह केवल वहां दो घंटे के लिए ही रहे. ये दिल्ली के लोगों के वोट देने का अपमान है. अगर वह असेम्बली में उपस्थित नहीं हो रहे हैं तो उनकी सैलरी काटी जाना चाहिए. (इनपुट एजेंसी)